अपनी मां और पत्नी के साथ मनेगा जाधव का क्रिसमस, पाकिस्तान ने दी इजाजत

पाकिस्तान की जेल में बंद हिंदुस्तानी नागरिक कुलभूषण जाधव 25 दिसंबर क्रिसमस के दिन अपनी मां और पत्नी से मुलाकात कर सकेंगे. पाकिस्तानी सरकार ने जाधव को अपनी मां और पत्नी से मिलने की इजाजत दे दी है. जाधव की मां और पत्नी उसे जेल के अंदर मिलेंगी. पाकिस्तानी विदेशी कार्यालय प्रवक्ता मोहम्मद शहजाद ने मीडिया को जानकारी देते हुए कहा कि जाधव की मुलाकात के दौरान भारतीय उच्चायोग का एक कर्मचारी भी मौके पर मौजूद रहेगा.

विदेश मंत्रालय प्रवक्ता रवीश कुमार ने गुरुवार को कहा था कि पाकिस्तानी सरकार से कहां गया है कुलभूषण यादव जब अपनी पत्नी और मां से मुलाकात करें तो उस वक्त भारतीय उच्चायोग का एक कर्मचारी को उनके साथ जाने की इजाजत दी जाए. शुक्रवार को पाकिस्तान ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को ट्वीट कर जानकारी दी कि कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी के वीजा दे दिए जाएंगे. जानकारी के लिए बता दें कि कुलभूषण जाधव की मां अवंति जाधव ने इस साल पाकिस्तानी उच्चायोग के समक्ष वीजा के लिए आवेदन दिया था इस दौरान भारत की तरफ से कुलभूषण की पत्नी को अकेले ही पाकिस्तान भेजने की अनुमति नहीं दी थी. भारत का कहना है कि जाध की मां को अपने बेटे से मिलने का पूरा अधिकार है.

वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान यह दावा कर रहा है कि भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव भारत की खुफिया एजेंसी से जुड़ा हुआ है तथा कुलभूषण जाधव रॉ के लिए काम करता है. पाकिस्तान यह दावा कर रहा है कि 2016 में बलूचिस्तान में कानून प्रवर्तन एजेंसियों ने उसे अवैध रूप से पाकिस्तान से गिरफ्तार किया था. लेकिन भारत का कहना है कि कुलभूषण जाधव एक पूर्व नौसेना अधिकारी है तथा वह रॉ के लिए काम नहीं करता. पाकिस्तानी सैन्य अदालत द्वारा जासूसी के आरोप में कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा सुनाई गई थी लेकिन भारत ने इस मामले में दखल अंदाजी कर दी थी. ऐसे में यह मामला अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में चला गया था जिसके बाद जाधव की फांसी पर रोक लगा दी गई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here