पाकिस्तान की विदेश नीति में किए गए बड़े बदलाव, सऊदी में तैनात होंगे पाकिस्तान के सैनिक

पाकिस्तान ने अपनी विदेश नीति में कई बड़े बदलाव किए हैं. बदलाव करते हुए पाकिस्तान ने सऊदी अरब में सैनिकों को द्विपक्षीय सुरक्षा सहयोग के तहत तैनात करने का फैसला लिया है. बीते गुरुवार को रावलपिंडी में मौजूद सेना मुख्यालय में प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा और पाकिस्तान में सऊदी के राजपूत नवाफ सद अल मलिकी के बीच बैठक के बाद पाकिस्तान की सेना ने यह ऐलान किया था.

सेना ने कहा कि पाकिस्तान सऊदी द्विपक्षीय सुरक्षा सहयोग को आगे भी जारी रखेगा और इसके साथ ही पाकिस्तान से सेना का एक दल ट्रेनिंग के लिए सऊदी अरब भेजेगा. इन सभी सैनिकों को और वहां पहले से मौजूद सैनिकों को सऊदी अरब से बाहर तैनात नहीं किया जाएगा. सेना ने आगे बताते हुए कहा कि पाकिस्तान कई अन्य खाड़ी देशों और केंद्रीय देशों के साथ द्विपक्षीय सुरक्षा सहयोग बनाए हुए हैं. गुरुवार को हुई बैठक में बाजवा और राजदूत के बीच देशहित के मामलों के साथ ही क्षेत्र सुरक्षा की स्थिति पर चर्चा की गई.

बीते साल 2015 से सऊदी अरब पाकिस्तान पर सैनिक भेजने का लगातार दबाव बनाता रहा है. उसी साल सऊदी यमन गृह युद्ध में भी कूदा था. उस बात से पाकिस्तान सऊदी कि इस बात को कैसे ना कैसे करके टालता रहा है. पाकिस्तान का कहना था कि वह किसी क्षेत्रीय विवाद में नहीं पड़ना चाहता. पाकिस्तान की हमेशा से यही कोशिश रही है कि वह ईरान, तुर्की ,सऊदी अरब, कतर और मिडिल ईस्ट के सभी बाकी देशों से एक जैसे संबंध कायम रख पाए. इन संबंधों में बाजवा का काफी अहम रोल रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here