फिर दहला अमेरिका, चर्च के अंदर फायरिंग में 26 की मौत

इन दिनों अमेरिका आतंकी हमलों के कारण थर्रा उठा है। अमेरिका में इन हमलों के कारण लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बीते हफ्ते में अमेरिका में तीन बार हमले हुए हैं। रविवार को हुए दक्षिण अमेरिका के टैक्सिस में हमले में 26 लोगों की मौत पुष्टि की गई है। हमला इतना ज्यादा घातक था कि इसमें कई लोगों को घायल होने की बात भी सामने आई है।

firing in america

देखने वाली बात यह है कि यह हमला किसी ग्रुप द्वारा नहीं बल्कि मात्र एक ही हमलावर द्वारा किया जा रहा है। इस बार भी हमला एक ही हमलावर द्वारा किया गया है। हमलावर की पहचान केली के रूप में हुई है। अमेरिकी मीडिया की माने तो केली एक बाइबल टीचर था। ये घटना भी एक चर्च में हुई है। हमला उस वक्त हुआ जब चर्च में प्राथना सभा चल रही थी। माना जा रहा है कि हमलावर ने रविवार का दिन इसलिए चुना क्योंकि, इस दिन चर्च में काफी ज्यादा संख्या में लोग मौजूद होते हैं।

हमले में गर्भवति महिला समेत 2 साल की बच्ची की मौत हुई है। स्थानीय पुलिस अनुसार हमलावर केली बैलिस्टिक बेल्ट और राइफल के साथ चर्च के अंदर घुसा और अन्दर जाते ही उसने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। यह हमला इतना ज्यादा घातक था कि इसमें 26 लोगो की मौके पर ही मौत हो गई। इतने में बहादुर शक्स ने उस पर हमला किया, तब कहीं कर ये फायरिंग रुक सकी। सूत्रों के अनुसार खबर है कि हमलावर केली इससे पहले अमेरिकी वायुसेना में काम कर चुका था। घर में बीवी और बच्चों से मारपीट के आरोप के बाद इससे वायुसेना से निकाल दिया गया था। जिसके बाद ये हमलावर चर्च में पादरी की नौकरी करने लग गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here