पंजाब मंत्रिमंडल की बैठक में लिए अहम फैसले

बुधवार को पंजाब मंत्रिमंडल की बैठक में कुछ अहम फैसले लिए गए। जिसमें एक्साइज एक्ट 1914 संशोधन बिल 2017 के तारों की धारा में संसोधन को मंजूरी दे दी गई। इसे कानूनी रूप देने के लिए विधानसभा के आगामी सत्र में हरी झंडी दिखाई गई। यह फैसला पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की अध्यक्षता में लिया गया।


मुख्यमंत्री आवास के एक प्रवक्ता ने बताया है कि की धारा 72, 78 और 181 में संशोधन होने के बाद अवैध शराब तस्करी पर रोक लगाई जा सकेगी। अब पंजाब के अंदर 750 एमएल अंग्रेजी शराब की 12 बोतलों से अधिक शराब लाना गैर जमानती जुर्म माना जाएगा। इसके साथ-साथ पंजाब में 3 पेटी शराब से ज्यादा शराब ले जाने पर शराब और गाड़ी दोनों को ही जप्त कर लिया जाएगा। यह सभी गाड़ियां तभी छोड़ी जाएंगे जब इन गाड़ियों में लगी शराब की कीमत दे दी जाए या फिर बैंक की गारंटी दिए जाने के बाद ही इन गाड़ियों को छोड़ा जाएगा।

पंजाब मंत्रिमंडल की बैठक में शराब के दामों को लेकर किसी भी तरह की चर्चा नहीं की गई। कुछ समय पहले पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह ने एक्साइज ड्यूटी के दौरान यह बात कही थी कि शराब की तस्करी को रोकने के लिए हमें शराब के दामों को कम करना होगा। जिससे सरकार के राजस्व में भी फायदा होगा और अन्य राज्यों से होने वाली शराब तस्करी भी रुक जाएगी। मंत्रिमंडल की बैठक में एक्साइज ड्यूटी बिल 1914 में संशोधन किया गया लेकिन शराब के दामों पर किसी भी प्रकार की चर्चा नहीं की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here