प्रद्युम्न हत्याकांड: आरोपी छात्र की पैरवी करेंगे आरुषि हत्याकांड के वकील

इन दिनों प्रद्युम्न हत्याकांड काफी ज्यादा सुर्खियों में छाया हुआ है. ऐसे में देश के सबसे ज्यादा चर्चित आरुषि हत्याकांड के वकील की एंट्री प्रद्युम्न हत्याकांड में हो सकती है. सूत्रों के हवाले से जानकारी आई है कि आरुषि हत्याकांड की पैरवी करने वाले तनवीर अहमद मीर अब प्रद्युम्न हत्याकांड में आरोपी छात्र की तरफ से केस लड़ सकते हैं. ग्यारहवीं क्लास के छात्र के पिता भी एक वकील हैं. जानकारी है कि उन्होंने ही तनवीर अहमद मीर से इस केस को लड़ने की बात कही है. सूत्रों के हवाले से खबर है कि तनवीर अहमद मीर ने इस बात की पुष्टि की है.

मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार तनवीर अहमद मीर का कहना है आरोपी छात्र की पैरवी करने के उन्होंने छात्र के पिता से बात की है. इस मामले में औपचारिकताएं पूरी होने के बाद वह कोर्ट में छात्र का बचाव कर सकते हैं. वहीं दूसरी तरफ प्रद्युम्न के पिता ने पिंटो परिवार की हाईकोर्ट से जमानत मिलने के बाद नाराजगी जताई है. उसके बाद अब वह सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारी कर रहे हैं. आपको बता दें कि प्रद्युम्न हत्याकांड में पहले अशोक कुमार को आरोपी बनाया जा रहा था. लेकिन सीबीआई जांच के बाद ग्यारहवीं क्लास के छात्रों को आरोपी पाया गया.

इसके पीछे परीक्षा की डेट को टालने का कारण दिया गया. हालांकि अभी तक इस बात पर काफी लोगों को यकीन नहीं हो रहा है कि मात्र एग्जाम की डेट बदलने के लिए ऐसा किया गया हो. लोगों का कहना है कि कारण कुछ और ही है. लेकिन सीबीआई द्वारा यह दावा किया जा रहा है कि आरोपी छात्र ने उनके सामने कबूल किया है कि एग्जाम की डेट आने के लिए उसने प्रद्युम्न की हत्या की. वहीं दूसरी तरफ इस केस की पैरवी करने जा रहा है तनवीर अहमद मीर का कहना है कि इस मामले में अभी कुछ भी नहीं बोला जा सकता है. सूत्रों के हवाले से जानकारी है कि कोर्ट में छात्र के बालिक और नाबालिक होने पर शहद की जा सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here