प्रद्युमन हत्याकांड: अशोक ने लगाए पुलिस पर गंभीर आरोप

गुरुग्राम के बहुचर्चित प्रद्युमन हत्याकांड की गुत्थी अब सुलझ चुकी है. लेकिन अब सवाल यह है कि इस केस में पहले आरोपी कंडक्टर अशोक कुमार का क्या हुआ. अशोक कुमार को अब जेल से रिहा कर दिया गया है. उसके बाद उसका बयान भी सामने आ गया है. अशोक का कहना है कि 8 सितंबर का दिन में कभी नहीं भूल सकता. उस दिन वह मेन गेट से टॉयलेट की तरफ जा रहा था. जिस वक्त उसे माली हरपाल मिल गया. हरपाल ने उससे कहा कि बच्चे को उठाकर गाड़ी तक ले जाने में उसकी मदद करे.

ashok kumar

अशोक ने देखा कि बच्चे की हालत खराब है तो बच्चे को गोद में उठा लिया. अशोक ने बताया की हत्या के 4-5 घंटे बाद कुछ पुलिस वाले उसके पास आए और कुछ सवाल पूछने लग गए. उसके बाद पुलिस वाले उसे पकड़ कर थाने ले गए. थाने में उसके साथ काफी ज्यादा मारपीट की गई तथा उसे काफी बार करंट लगाया गया. पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए अशोक ने बताया कि पुलिस ने उसके साथ काफी बदसलूकी की. अशोक ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस ने उसे काफी सारे इंजेक्शन लगा दिए थे. जिस कारण उसे नशा हो गया और फिर उसे नहीं पता कि उस के क्या क्या हुआ है. जानकारी है कि गुरुवार को जेल से रिहा होने के बाद अशोक अपने घर नहीं पहुंचा था वह अपने पड़ोसी के घर पर ही था. जानकारी है कि उसे तेज बुखार था जिस कारण वह अपने पड़ोसी घर पर ही चला गया और उसके घर पर आराम करने लग गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here