घाटी: आतंकी की शव यात्रा में लगे ISIS के नारे, सुरक्षाबलों ने उतारा था मौत के घाट

शुक्रवार को जम्मू कश्मीर के जकूरा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ के दौरान आतंकी मुगीस मीर को मौत के घाट उतार दिया था। जिसके बाद आतंकी की शव यात्रा निकाली गई है। घटिया किस्म के आंतकी की शव यात्रा में हजारों लोगों का हुजूम देखा गया। आतंकी को शनिवार के दिन श्रीनगर गुलमर्ग रोड स्थित पंपोर तहरीक उल मुजाहिदीन में दफनाया गया। शव यात्रा के दौरान मौजूद लोगों ने इस्लामिक स्टेट के समर्थन में नारे भी लगाए। खबर है कि लोगों ने आतंकी की शव यात्रा में घिनौने आतंकी जाकिर मूसा के समर्थन में भी नारेबाजी की है।

isis terrorist

जानकारी है कि आतंकी की अंतिम यात्रा के दौरान जहां लोगों ने आतंकी इस्टेट का समर्थन किया तो दूसरी तरफ अलगाववादियों और सुरक्षाबलों के खिलाफ नारेबाजी की। जानकारी है कि मारे गए आतंकी को इस्लामिक स्टेट के झंडे में लपेटा हुआ था। यहां पर इस कदर आईएसआईएस के प्रति नारेबाजी हुई कि अनुमान लगाया जा रहा है कि घाटी में भी अब इसके आतंकी पनपने लग गए हैं। लेकिन रविवार को आईजी मुनीर खान द्वारा इन अटकलों को खारिज किया गया।

पुलिस की तरफ से यह कहा गया है कि जब घाटी में 2016 को हिजबुल मुजाहिद्दीन के चीफ को मारा गया था तब जाकिर मूसा को आतंकियों का कमांडर बनाया गया था। उन्होंने कहा कि बुरहान वानी के मारे जाने के बाद जाकिर मूसा को ज्यादा समर्थन नहीं मिल रहा है। पुलिस का कहना है कि वह लगातार इस बात की जांच में जुटी हुई है कि घाटी में आईएसआईएस मौजूदगी तो नहीं है। पुलिस ने कहा कि वह इस बात की लगातार जांच में जुटी हुई है कि इस्लामिक स्टेट का प्रभाव घाटी में कितना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here