विवादित बयान देने के बाद हिमंत बिस्व के सामने खड़े हुए पी. चिदंबरम

एक बार फिर भाजपा नेताओं के मुंह से विवादित बयानों का सिलसिला चल पड़ा है। कैंसर पीड़ितों और दुर्घटना को लेकर दिए गए विवादित बयान की वजह से असम के स्वास्थ्य मंत्री हिमंत बिस्व शर्मा सुर्खियों में आ गए हैं। हाल ही में उन्होंने एक सभा को संबोधित करते हुए यह विवादित बयान दिया था कि कैंसर और दुर्घटना की पीड़ा पुराने गुनाहों का परिणाम होती है।

एक बार फिर भाजपा नेताओं के मुंह से विवादित बयानों का सिलसिला चल पड़ा है। कैंसर पीड़ितों और दुर्घटना को लेकर दिए गए विवादित बयान की वजह से असम के स्वास्थ्य मंत्री हिमंत बिस्व शर्मा सुर्खियों में आ गए हैं। हाल ही में उन्होंने एक सभा को संबोधित करते हुए यह विवादित बयान दिया था कि कैंसर और दुर्घटना की पीड़ा पुराने गुनाहों का परिणाम होती है।  असम के मंत्री ने यह विवादित बयान गुवाहाटी के शिक्षकों को नियुक्ति पत्र वितरित करने के लिए आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान दिया था। उन्होंने कहा कि जब हम गुनाह या पाप करते हैं तो भगवान हमें दंड देता है। युवाओं को हम जब कैंसरग्रस्त देखते हैं या फिर दुर्घटना का शिकार होते हुए देखते हैं तो यह इसी तरह की सजा है जब आप इस पृष्ठभूमि को देखेंगे तो आप को इस बात का पता चल जाएगा कि यह ईश्वर का न्याय है और कुछ नहीं, हमें ईश्वर के इस न्याय का सम्मान करना चाहिए।
Himanta Biswa Sarma

असम के मंत्री ने यह विवादित बयान गुवाहाटी के शिक्षकों को नियुक्ति पत्र वितरित करने के लिए आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान दिया था। उन्होंने कहा कि जब हम गुनाह या पाप करते हैं तो भगवान हमें दंड देता है। युवाओं को हम जब कैंसरग्रस्त देखते हैं या फिर दुर्घटना का शिकार होते हुए देखते हैं तो यह इसी तरह की सजा है जब आप इस पृष्ठभूमि को देखेंगे तो आप को इस बात का पता चल जाएगा कि यह ईश्वर का न्याय है और कुछ नहीं, हमें ईश्वर के इस न्याय का सम्मान करना चाहिए।

भाजपा के मंत्री ने ट्वीट कर कहां की यह पाप इस जन्म के भी हो सकते हैं या पूर्व जन्म के भी या फिर यह माता-पिता का गुनाह भी हो सकते हैं जो संतान को भुगतना पड़ता है। यह बयान हेमंत बिस्व ने ट्वीट कर दिया। बिस्व के इस बयान के बाद कांग्रेस सरकार में रह चुके पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम ने ट्वीट कर उन पर निशाना साधा है। उन्होंने कहां है की असम के मंत्री शर्मा जी ने जो बातें कही है वह तो ठीक है लेकिन क्या व्यक्ति के दल बदलने से भी यही होता है।

 

पी चिदंबरम के इस ट्वीट के बाद शर्मा ने ट्वीट करते हुए कहा कि पी चिदंबरम ने इस बयान को गलत बयानी का आरोप लगाया है हिमंत बिस्व शर्मा ने अपने ट्वीट पर सफाई देते हुए कहा कि हिंदू धर्म में यह मान्यता है कि पिछले जन्म के कर्मों से ही मनुष्य के दुख जुड़े होते हैं इसके साथ ही हिमंत बिस्व शर्मा ने पी चिदंबरम से एक प्रश्न पूछा है क्या आप यह नहीं मानते हैं? मुझे नहीं पता कि आप की पार्टी में हिंदू धर्म दर्शन पर चर्चा होती भी है या फिर नहीं?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here