पद्मावती फिल्म: राजपूतों के विरोध में शशि थरूर का बयान

पद्मावती फिल्म को लेकर इन दिनों खासा बवाल मचा हुआ है। इस बीच पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर का बयान सामने आया है। अपने बयान में उन्होंने कहा है कि तथाकथित जांबाज महाराजा एक फ़िल्मकार के पीछे पड़े हुए हैं और वे तथाकथित यह दावा करने में लगे हुए हैं कि उनका सम्मान दाव पर लगा हुआ है। उन्होंने कहा कि उनका यह सम्मान तब कहां चला गया था जब ब्रिटिश शासकों ने उनके मान सम्मान को ठेस पहुंचाई थी। यह सब उन्होंने एक समारोह के दौरान कहां है।

समारोह में उनकी किताब ‘एन एरा ऑफ डार्कनेस द ब्रिटिश एंपायर इन इंडिया’ में पीड़ा का भाव क्यों है? जबकि भारतीयों ने अंग्रेजो के साथ दिया था। यह उनकी राय है इस पर बोलते हुए शशि थरूर ने कहा कि वह पीड़ा को सही नहीं बताते हैं। किताब लिखते वक्त वह खुद काफी जगह पर सख्त हुए हैं। शशि थरूर ने कहा कि कुछ ब्रिटिश समीक्षकों ने कहा है कि वह इस बात की व्याख्या क्यों नहीं करते हैं कि ब्रिटिश कैसे जीत गए थे। जबकि है काफी उचित सवाल है। शशि थरूर के अनुसार तथाकथित महाराजाओं में पर एक जो आज एक फ़िल्मकार पर हाथ धो कर पड़े हुए हैं उनका मान सम्मान उस वक्त कहां चला गया था जब ब्रिटिश ने उनके अस्तित्व को रौंद दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here