पद्मावती के विरोध में खुलकर उतरे हरियाणा के दो मंत्री

कई दिनों से विवाद में चल रही पद्मावती एक बार फिर से चर्चा का विषय बन गई है। पद्मावती को लेकर हरियाणा में भी बवाल शुरू हो गया है। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने फिल्म पद्मावती का पहले ही विरोध किया था और इसके बाद हरियाणा के उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने केंद्रीय स्मृति ईरानी के साथ साथ फिल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली को भी पत्र लिख दिया है।

padmawati

गोयल पत्र में लिखा है कि फिल्म पद्मावती के ट्रेलर में अलाउद्दीन खिलजी का महिमामंडन बिल्कुल गलत है। गोयल ने फिल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली से अपील की है कि वह पद्मावती के गौरवमई इतिहास को लोगों के सामने लाए ना की फिल्म को ज्यादा बेचने या ज्यादा पैसा कमाने के लिए ऐतिहासिक तथ्यों से खिलवाड़ ना करें यह उनके लिए बिल्कुल ठीक नहीं होगा।

आपको बता दें कि इस मुद्दे पर विपुल गोयल से पहले फिल्म पद्मावती पर हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज पहले ही विरोध जता चुके हैं। उन्होंने कहा है ऐतिहासिक तथ्यों से खिलवाड़ करने वाली इस फिल्म को रिलीज नहीं होने देंगे। साथ ही उन्होंने कहा है कि वह इस फिल्म पर बैन लगाने के लिए सेंसर बोर्ड से अपील करेंग। फिल्म निर्देशक भंसाली ने रानी पद्मावती के चरित्र के साथ छेड़छाड़ की है। किसके जिंदा हम कड़ी शब्दों में करते हैं। अंत में विजय ने कहा कि रानी पद्मावती हिंदू समाज की आदर्श हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here