दिल्ली में दिखी पहाड़ी सांस्कृति की झलक, उत्तरैणी मकरैणी राष्ट्रीय महापर्व सम्मान दिवस का आयोजन

पहाड़ की बात की जाए तो यहां पर खासा महत्व संस्कृति दिया जाता है. आय दिन पहाड़ के संस्कृति को लोगों के सामने लाने के लिए कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है इसी कड़ी में रविवार को भी पहाड़ी संस्कृति को लेकर एक कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया. रविवार को उत्तरैणी मकरैणी राष्ट्रीय महापर्व सम्मान दिवस मनाया गया. इस सम्मान दिवस में पहाड़ी लोगों के साथ और भी कई लोगों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया. इस दिवस में सभी लोगों में खासा उत्साह दिखाई दिया. राजधानी दिल्ली के गढवाल भवन में इस कार्यक्रम का भव्य आयोजन किया गया.

 

चीफ गेस्ट के तौर पर बात की जाए तो यहां पर कमल बंसल, जीतराम भट्ट, दिल्ली पुलिस में एसीपी केपी कुकरेती ने अपनी मौजूदगी दर्ज कराई. इसके अलावा करणी सेना के अध्यक्ष जद्दल सिंह राठौड़, करणी सेना के महासचिव सुरेन्द्र सिंह शेखावत, राजपूत एकता संग के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष राकेश चौहान मौजूद थे.

कार्यक्रम में पहाड़ी संस्कृति की काफी झलकियां दिखाई दी. यहां लोगों के सम्मान और संस्कृति काफी अच्छी तरह से प्रकाशित की गई. पहाड़ के कई नामचिन्ह लोगों के चेहरे दिखाई दिए. दिल्ली एनसीआर से भी कई नाहमी चेहरों ने यहां बढ-चढकर अपनी भागीदारी दर्ज कराई. कार्यक्रम में पहाड़ी संस्कृति को सामने लाने के लिए छोटे बच्चों में खासा उत्साह दिखा. उत्तरैणी प्रोग्राम में कई सारे गीतों को भी प्रकाशित किया गया. यहां सभी गीत इस कदर लोगों के सिर चढ़ चुके थे, जिन्होंने सभी लोगों को थिरकने पर मजबूर कर दिया. गीतों के साथ-साथ यहां छोटे बच्चों का नाच आकर्षण का केंद्र बन गया. उत्तरैणी मकरैणा राष्ट्रीय महापर्व सम्मान दिवस में जाने माने चेहरों के साथ कई कवियों मे भी अपनी मौजूदगी दर्ज कराई.

गीतों के साथ नाच और जाने पहचाने चेहरों ने यहां पर किसी को भी बोरियत महसूस नहीं होने दी. पहाड़ी संस्कृति को दिखाने के लिए मात्र देव भूमि के ही नहीं बल्कि दिल्ली से भी कई ऐसे बच्चों ने अपनी झलकियां दिखाई. यहां छोटे बच्चों में इतनी मात्रा में ऊर्जा दिखी कि सभी लोगों ने अपना ध्यान उन्हीं पर लगा कर रखा. वक्त के साथ यहां इतनी मात्रा लोगों का जमावडा लग गया कि उत्साह मे किसी प्रकार की कमी नहीं आई. पहाड़ी संस्कृति को लेकर यहां कई लोगों ने कार्यक्रम को सफल बनाया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here