2017 का आखिरी दिन साल के लिए कहा कुछ ऐसा

घने कोहरे के कारण ट्रेनों का पलट जाना, हाईवे पर एक्सीडेंट हो जाना और फ्लाइटों का रद्द हो जाना यह आम बात है लेकिन साल 2017 के आखिरी दिन सुबह कोहरा कुछ इतना घना था जिसके कारण विजिबिलिटी 0 नजर आ रही थी. सुबह का आलम यह था कि वाहन चालकों को वाहन चलाने में काफी ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा था और इसी के साथ कई जगहों पर वाहनों के आपस में टकरा कर एक्सीडेंट होने की खबरें भी हैं.

The last day of 2017 said something like that delhi   The last day, end 2017, new year . delhi, road accident

साल के आखिरी दिन के घने कोहरे का सीधा सीधा असर विमानों की उड़ान पर पड़ा है. दिल्ली की सभी उड़ानें स्टैंडबाय पर हैं, जीरो विजिबिलिटी होने के कारण किसी भी प्रकार का कोई परिचालन नहीं किया जा रहा है. घने कोहरे की वजह से 90 से ज्यादा उड़ानें प्रभावित हुई हैं और 40 से ज्यादा विमानों के मार्ग में बदलाव कर दिया गया है.

मिली जानकारी के मुताबिक दिल्ली से मॉरीशस के लिए जाने वाला विमान 8 बजे की बजाए 12 बजे उड़ान भर सका. रेलवे की बात करें तो लगभग 3 दर्जन ट्रेनें देरी से चल रही हैं. मौसम विभाग के अनुसार उत्तर भारत में घना कोहरा और पछुआ हवाओं के बढ़ जाने से यहां पर सर्दी भी बढ़ गई है. बिहार और उत्तर प्रदेश में सुबह घना कोहरा होने के साथ-साथ पुरवा हवाओं ने अपना दबदबा बनाए रखा. भारत की राजधानी दिल्ली में तो ठंड इतनी बढ़ गई है कि लोग अपनी रजाइयों से बाहर निकलने में भी कतरा रहे हैं. रविवार सुबह दिल्ली का न्यूनतम तापमान 9 डिग्री सेल्सियस रहा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here