स्मॉग में छाई दिल्ली, एनजीटी का आदेश- बंद होगा निर्माण कार्य

राजधानी दिल्ली में ठंड आने के साथ साथ स्मॉग ने भी अपने प्यार चलाना शुरु कर दिए हैं। स्मोक के कारण लोगों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लोगों की आंखें जल रही हैं तथा उन्हें सांस लेने में काफी दिक्कत हो रही है। ऐसे में दिल्ली सरकार समेत सभी पक्षों को ट्रिब्यूनल ने एनजीटी में चल रही बहस के दौरान कड़ी फटकार लगाई है। इसके साथ ही एनजीटी ने दिल्ली-एनसीआर में चल रहे निर्माण कार्य को तत्काल रोकने का फैसला किया है। हाई कोर्ट के फैसले में यह भी कहा गया है, कि दिल्ली-एनसीआर में चल रहे निर्माण कार्य पर रोक लगाई जाएगी लेकिन सभी मजदूरों को उनके पैसे भी दिए जाएंगे।

Smog

दिल्ली सरकार को कोर्ट की तरफ से फटकार लगाते हुए कहा गया है कि, अभी तक के हेलीकॉप्टर से छिड़काव क्यों नहीं किया गया है? कोर्ट कि तरफ से कहा गया है कि लोगों की सेहत के साथ किसी भी प्रकार का भेदभाव नहीं किया जा सकता है। स्मॉग के कारण लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। स्मॉग के कारण विजिबिलिटी काफी कम होती जा रही है। राजधानी के अलग-अलग इलाकों में स्मोक, अलग-अलग तरह से लोगों को परेशान कर रहा है। अगर एयर क्वालिटी इंडेक्स की बात की जाए तो पंजाबी बाग की हवा सबसे ज्यादा खतरनाक बनी हुई है। उसके बाद आनंद विहार, शादीपुर डिपो और द्वारका आते हैं। दिल्ली की हवाई इतनी ज्यादा दूषित हो गई है कि इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की तरफ से आपातकाल घोषित कर दिया गया है। हवा में ज्यादा प्रदूषण होने के कारण स्कूलों की भी छुट्टी कर दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here