उत्तरी दिल्ली महापौर प्रीति अग्रवाल ने कचरा प्रबंधन हेतु प्रथम कॉम्पेक्टर का उद्घाटन किया

उत्तरी दिल्ली की महापौर प्रीति अग्रवाल ने रोहिणी सेक्टर-15, हर्बल पार्क के ढलाव में कचरा प्रबंधन हेतु प्रथम कॉम्पेक्टर का उद्घाटन किया. इस अवसर पर उत्तरी दिल्ली नगर निगम के आयुक्त मधुप व्यास, प्रमुख अभियंता विजय प्रकाश, प्रमुख निदेशक (पर्यावरण प्रबंधन सेवाएं) देवेंद्र कुमार, उपायुक्त (रोहिणी क्षेत्र) कपिल रस्तोगी व अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद हुए.

महापौर प्रीति अग्रवाल ने कहा कि ‘‘कचरा प्रबंधन के आधुनिकीकरण का यह उत्तरी दिल्ली नगर निगम का प्रयास है जो की हमें स्वच्छता की ओर अग्रसर करेगा. उन्होंने बताया कि कूड़े को व्यवस्थित रखने के लिए निगम ने प्रथम कॉम्पेक्टर का आज शुभारंभ किया है. उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य दिल्ली को कूड़ा मुक्त रखना है, यह ‘स्वच्छ भारत मिशन की ओर बढ़ते कदम’ हैं. महापौर ने कहा कि ‘हमने न केवल विकास की बात की है अपितु विकास किया है और आगे भी करते रहेंगे.’ इस कॉम्पेक्टर के माध्यम से अधिक कूड़े की मात्रा को थोड़े से स्थान में कॉम्पेक्ट कर समाया जा सकेगा, जिससे इधर-उधर कूड़ा नहीं फैलेगा.

प्रीति अग्रवाल ने कहा कि डी.एम.एस.डब्ल्यू.एस.एल कम्पनी के साथ मिलकर निगम में यह कॉम्पेक्टर लगाया गया है. उन्होंने बताया कि 62 स्थानों में कचरा प्रबंधन हेतु कॉम्पेक्टर स्थापित करने का कार्य प्रगति पर है. इस कार्य को 31 मार्च 2018 तक पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है. इस कॉम्पेक्टर के जरिए कूड़े का निपटान किया जाऐगा. इसके दोनों ओर पाइप है जिसमें गंदा पानी टैंक में भरेगा, जिससे वह ज़मीनी पानी को प्रदूषित नहीं कर पाऐगा. उन्होंने बताया कि कूड़े का निस्तारण बवाना के लैंडफिल साइट में किया जाऐगा. जिसमें छोटे कूड़े की छटाई होगी तथा बड़े कूड़े को ऊर्जा संयंत्र के लिए उपयोग किया जाऐगा. इसके पश्चात दोबारा कूड़े का निपटान किया जायेगा. उन्होंने कहा कि इस कॉम्पेक्टर के लग जाने से ढलाव घर में कूड़े का ढेर नहीं दिखाई देगा. उन्होंने यह भी बताया कि पिछले तीन दिन पूर्व ही निगम ने 4 रोड स्वीपिंग मशीन व 15 स्कीड स्कीयर लोडर भी सफाई के कार्य हेतु समर्पित किए थे.

निगमायुक्त मधुप व्यास ने बताया कि यह मोबाइल कॉम्पेक्टर रोहिणी क्षेत्र में 32 स्थानों में लगाया जा रहा है जो कि अपनी समयावधि के बीच पूरा किया जाऐगा. उन्होंने बताया 12 स्थानों में बिजली कनेक्शन भी उपलब्ध कराया जा चुका है. उन्होंने बताया की इस माध्यम से ढलाव में कूड़े के फैलाव से छुटकारा प्राप्त होगा. कूड़े के न होने से आवारा पशुओं की समस्या भी खत्म होगी. उन्होंने कहा कि सारा कूड़ा लैंडफिल साइट में जायेगा तथा कूड़ा ले जाते समय जो सड़कों मे कूड़े गिरने की समस्या उत्पन्न होती है उससे भी निजात मिलेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here