दिल्ली: संगम विहार में नरक जैसा जीवन जी रहे लोग, देखें विडियो

हर साल गर्मी के मौसम में देखा जाता है कि दिल्ली भारी पानी की दिक्कत से जूझती है ऐसा ही इस साल भी देखने को मिल रहा है. दिल्ली के कई ऐसे इलाके हैं जहां लोग सुबह से रात तक पानी के लिए लाइन लगाकर खड़े रहते हैं लेकिन अंत में उन्हें पानी नहीं मिल पाता. दूसरी और दिल्ली सरकार यह दावा करती है कि हर घर में 700 लीटर पानी रोजाना दिया जा रहा है. इन तस्वीरों और इन विडियो में देखकर ऐसा लग रहा है कि दिल्ली सरकार अपने झूठे वादों और छुट्टी कवाऐतों के सामने आकर फंस चुकी है. दक्षिण दिल्ली के संगम विहार क्षेत्र से विधायक दिनेश मोहनिया जो कि दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष भी हैं. उनके क्षेत्र में ना ही पीने के पानी की सुविधा है और ना ही गंदे पानी की निकासी की सहूलियत. इन सभी तस्वीरों में साफ दिखाई दे रहा है कि संगम विहार निवासी कितनी जिल्लत की जिंदगी जी रहे हैं.

दूसरी ओर यही हाल संगम विहार के निगम पार्षदों का भी है. इन निगम पार्षदों के क्षेत्र में जनता को पीने का पानी नसीब नहीं हो रहा है . अपना पदभार संभालने के बाद यह लोग अब शायद संगम विहार की जनता को भूल चुके हैं. संगम विहार के कुछ इलाके तो ऐसे हैं जहां ना ही नालियां बनी है, ना ही पीने का पानी है और ना ही रोड़ बने हुए हैं. संगम विहार की जनता को नेताओं ने अपने जुमले और वादों में इस कदर फसाया कि अब संगम विहार की जनता को पांच साल यह नर्क भुगतना पड़ेगा. फर्जी जनसंवाद और फर्जी बातों के सहारे यह नेता अपना दबदबा संगम विहार की जनता के ऊपर बनाए हुए हैं.

संगम विहार के कुछ इलाके ऐसे हैं जहां कुछ लोग मिल जुलकर पानी के बोरवेल को चालू कराने के लिए एकत्रित होते हैं लेकिन इस जगह पर ना ही क्षेत्र का विधायक पहुंचता है और ना ही निगम पार्षद. पानी की इस बड़ी किल्लत के बीच संगम विहार में धड़ल्ले से प्राइवेट टैंकरों से पानी बेचने वालों की चांदी हो रही है. यह लोग संगम विहार की जनता से एक-एक टैंकर का हजार-हजार रूपया वसूल रहे हैं. संगम विहार क्षेत्र में पानी माफियाओं का अपना दबदबा बना हुआ है जिस कारण यहां की भोली जनता किसी के खिलाफ आवाज नहीं उठा पाती.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here