दिल्ली को पानी नहीं देगा हरियाणा

मंगलवार को हुई अपर रिवर यमुना बोर्ड की बैठक में लिया गया फैसला. ऐसे में लगभग तय हो चुका है कि दिल्ली में पानी की सप्लाई भी इस पूरे सीजन में प्रभावित रहेगी. लोग विभिन्न तरीकों से शिकायत कर रहे हैं कि उन्हें पिछले कई दिनों से सप्लाई का पानी नहीं मिल रहा है. जल बोर्ड के अनुसार, यमुना बोर्ड में यह फैसला भी हुआ है कि एनजीटी में चल रहा केस भी वापस लिया जाएगा. जल बोर्ड के अनुसार, कोशिश रहेगी कि सभी जगहों पर थोड़ा-थोड़ा पानी सप्लाई होता रहे.

जल बोर्ड के वाइस चेयरमैन दिनेश मोहनिया ने बताया कि मंगलवार को अपर रिवर यमुना बोर्ड के सामने दिल्ली और हरियाणा की बातचीत हुई. इस बातचीत में फैसला लिया गया कि हरियाणा दिल्ली को पानी देता रहेगा और जल बोर्ड एनजीटी में चल रहा केस वापस लेगा. हरियाणा ने लिखकर कहा है कि वह दिल्ली में हर दिन 10 से 60 क्यूसेक पानी छोड़गा. मोहनिया के अनुसार, सुप्रीम कोर्ट पहले ही कह चुका है कि पानी का विवाद आपस में बातचीत से सुलझाए. ऐसे में जल बोर्ड के पास बहुत अधिक ऑप्शन नहीं बचे थे.

दूसरी तरफ लोग जल बोर्ड से लगातार पानी मांग कर रहे हैं. लोग अलग-अलग इलाकों से ऐप, वेबसाइट, फेसबुक और ट्विटर पर पानी की समस्याएं जल बोर्ड तक पहुंचा रहे हैं. ऐसे ही एक शख्स राहुल ने बताया कि रोहिणी सेक्टर-24 के पॉकेट 11 में 3 दिनों से पानी नहीं आया है. शिकायत करने पर हर बार एक नया नंबर मिल जाता है. निलंजन के अनुसार, द्वारका मोड में 5 से 6 दिन बाद पानी आ रहा है. अरविंद ने बताया कि मालवीय नगर के बेगमपुर गांव में पिछले 10 दिनों से सप्लाई का पानी नहीं आया है.

Viral photo: सनी लियोनी की शादी की फोटो हुई वायरल, देखें विडियो

कैराना उपचुनाव: हार की ओर बीजेपी, ‘यह सरकार जुमलेबाज है’

टाइगर श्रॉफ से पहले इन्हें डेट करती थी दिशा, ब्रेकअप की वजह जानकर आप रह जाएंगे हैरान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here