झंडेवालान मंदिर में अब फूलों से बनाई जाएगी खाद

दिल्ली के पहाड़गंज इलाके में स्थित झंडेवाला मंदिर में चढ़ाये जाने वाले फूलों को खाद में परिवर्तित किया जाएगा। मंदिर में गुरुवार को लोकसभा सांसद मीनाक्षी लेखी ने डी कंपोजर का अनावरण किया है। मंदिर में रोजाना चढ़ाए जाने वाले 100 किलो फूलों को डी कंपोजर खाद में तब्दील कर देगा। डी कंपोजर को एंजेलिक फाउंडेशन ने मंदिर प्रबंधक की निगरानी करने वाली चेरिटेबल सोसाइटी बद्री भगत झंडेवालान को दान दिया है। यह स्वचालित जैविक डी कंपोजर है।

tempal

इसे लॉन्च करते वक्त सांसद मीनाक्षी लेखी ने कहा कि उन्हें ऐसा करते वक्त काफी प्रसन्नता हो रही है। यह कदम स्वच्छता को ध्यान में रखते हुए लिया गया है। डी कंपोजर से किसी भी प्रकार की हानि नहीं होती है। मीनाक्षी लेखी ने कहा कि डी कंपोजर लग जाने के बाद फूलों को खाद में बदला जा सकेगा ऐसे में मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं को भी सुविधा मिल सकेगी और उन्हें किसी भी प्रकार की दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ेगा स्वच्छता अगर होगी तो सभी लोग प्रसन्न होंगे ।

जानकारी है कि दिल्ली स्टेशन झंडेवालान मंदिर से योजना 50 किलो फूल तथा 10 किलो रसोई जैविक कचरा निकलता है ऐसे में जब त्योहारों का सीजन होता है तो उस वक्त यह कचरा डबल हो जाता है। जिसके बाद 100 किलो से अधिक फूल तथा काफी मात्रा में रसोई जैविक कचरा निकलता है। डी कंपोजर मिल जाने के बाद इस को खाद के रूप में परिवर्तित किया जा सकेगा। जानकारी है कि रोजाना डी कंपोजर 200 किलो फूलों को खाद में तब्दील कर सकता है। डी कंपोजर को हरे भरे क्षेत्र में उर्वरक बनाने के लिए भी काफी प्रयोग में लाया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here