राजधानी को वायु प्रदूषण से बचाने के लिए, दिल्ली सरकार ने तैयार की एंटी स्मॉग गन

दिल्ली में बढ़ रहे प्रदूषण से निजात पाने के लिए अब दिल्ली सरकार एंटी स्मॉग गन का सहारा लेने जा रही है. बुधवार को आनंद विहार के एयर मॉनिटरिंग सिस्टम प्राइस एंटी स्मॉग गन का ट्रायल लिया गया. एंटी स्मॉग गम के इस्तेमाल से पहले और बाद में वायु प्रदूषण का सारा डाटा जमा किया गया हैं.

एंटी स्मॉग गन के इस्तेमाल के 2 घंटे बाद हवा में मामूली सुधार दर्ज किया गया. एंटी स्मोक गन का इस्तेमाल दिल्ली के कई अलग-अलग इलाकों में किया जाएगा और हवा की गुणवत्ता में हुए बदलाव को नापा जायेगा. अगर यह दिल्ली सरकार की तकनीक कारगर साबित होती है तो जल्द ही राजधानी दिल्ली को जहरीली हवा से छुटकारा मिल जाएगा. दिल्ली एनसीआर को सचमुच एक वायु प्रदूषण से लड़ने वाली एक तोप मिल जाएगी.

स्मॉग गन के ट्राइल के लिए आनंद विहार को इसलिए चुना गया क्योंकि यह इलाका दिल्ली और गाजियाबाद की सीमा पर मौजूद है और आनंद विहार प्रदूषण के मामले में राजधानी दिल्ली के सभी इलाकों को पीछे छोड़ देता हैं. दुनिया के कई देशों में भारत से पहले एंटी स्मॉग गन ने अपना काम कर दिखाया हैं. भारत में यह तकनीक और यह नाम लोगों के लिए नया है. दिल्ली के पर्यावरण मंत्री इमरान हुसैन ने बताया कि एंटी स्मॉग गन दिल्ली के वायु प्रदूषण को कम करने में कारगर रही तो जल्द ही मशीनों को दिल्ली की सड़कों पर दौड़ाया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here