सतना: मध्य प्रदेश के सतना जिले के परसमनिया वन चौकी में शुक्रवार को उस वक्त हड़कंप मच गया जब रीवा लोकायुक्त टीम ने दबिश दी। डिप्टी रेंजर धीरेन्द्र चतुर्वेदी को 20 हजार की रिश्वत लेते रंगेहाथों पकड़ा। टीम ने डिप्टी रेंजर के बीट गार्ड अनिल मांझी व नीरज दुबे को भी हिरासत में लिया है जिनसे पूछताछ की जा रही है।

दरअसल, पुरैनिया निवासी ठेकेदार मुन्नू पाण्डेय ने रीवा लोकायुक्त में शिकायत की थी कि डिप्टी रेंजर धीरेंद्र चतुर्वेदी द्वारा एक वर्ष पूर्व जब्त डंपर को छोड़ने के एवज में 50 हजार की रिश्वत की मांग की जा रही है। ठेकेदार की शिकायत पर लोकायुक्त टीम ने जाल बिछाकर अपने हमराह स्टाफ के जरिये उससे जंगल से डंपर पास करने के लिए 20 हजार की रिश्वत की मांग की थी।

ठेकेदार मुन्नू पाण्डेय की शिकायत पर रीवा लोकायुक्त के डी एस पी राजेश पाठक, निरीक्षक प्रमेंद्र सिंह सहित 20 सदस्यीय टीम ने शुक्रवार को परसमनिया वन चौकी में डिप्टी रेंजर को रंगेहाथों पकड़ा है। इसके अलावा टीम ने मौके पर मौजूद बीट गार्ड अनिल माझी व नीरज दुबे को भी हिरासत में लिया है। इतना ही नहीं लोकायुक्त टीम ने मौके से एक बगैर लाइसेंसी देसी पिस्टल व 32 जिंदा कारतूस बरामद किए हैं।

Ankit Sharma

मैं एक स्वतंत्र हिंदी पत्रकार, लेखक, पीआर सलाहकार और सोशल मीडिया मैनेजर के रूप...

Leave a comment

Your email address will not be published.