SC से कांग्रेस को झटका, मतगणना में दखल देने से किया इनकार

शुक्रवार को गुजरात कांग्रेस की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई गई थी, जिसमें वीवीपैट की 25% पर्चियों के वोटों से मिलान की बात कही गई थी. लेकिन सुप्रीम कोर्ट में गुजरात विधानसभा चुनाव की मतगणना में दखल से इनकार करते हुए कांग्रेस की याचिका खारिज कर दी गई है. कांग्रेस ने अपनी याचिका में मांग की थी कि कोर्ट चुनाव आयोग को इस बारे में निर्देश दें. कोर्ट में कांग्रेस की तरफ से पक्ष कपिल सिब्बल, अभिषेक सिंघवी ने रखा था.

supreme court

देखने वाली बात यह है कि गुजरात चुनाव के वक्त कई जगहों से ईवीएम में खराबी की शिकायत है आई थी. लगातार विपक्षी दल इस बात को मुद्दा बनाने की कोशिश कर रहे हैं. विपक्षियों का इस बार भी कहना है कि ईवीएम के साथ छेड़खानी की गई है. विपक्षी पार्टियां ईवीएम को हैक करके चुनावी परिणाम में फेरबदल का आरोप लगा रही है. इससे पहले भी कई बार ईवीएम के ऊपर सवाल उठते रहे हैं. कभी समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव तो कभी बसपा सुप्रीमो मायावती ने ईवीएम पर काफी गंभीर सवाल उठाए. दूसरी तरफ दिल्ली की सत्ता पर काबिज आम आदमी पार्टी की तरफ से ईवीएम पर सवाल उठाए जा चुके हैं. यहां तक कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राज्य निर्वाचन आयोग से यह गुजारिश की थी कि चुनावों को ईवीएम के बदले बैलेट पेपर से कराया जाए.

गौरतलब है कि गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण में कांग्रेस नेता अर्जुन मोढवाडिया की तरफ से यह कहा गया था कि पोरबंदर के मुस्लिम इलाकों में मतदान केंद्रों पर ईवीएम को ब्लूटूथ के जरिए चलाया जा रहा है. लेकिन सीईओ मुख्य चुनाव अधिकारी की तरफ से उनकी बात को गलत करार कर दिया गया और यह कहा गया था कि एक मतदान एजेंट के पास मोबाइल फोन में सीओ 105 मॉडल नंबर के तौर पर अंकित था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here