कावेरी जल विवाद पर ‘सुप्रीप’ फैसला

करीबन 120 सालों से चल रहे कर्नाटक और तमिलनाडु के बीच जल विवाद पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए तमिलनाडु के पानी का हिस्सा घटा दिया है. इसमें तमिलनाडु की हिस्सेदारी 192 से 177. 25 टीएमसी कर दी गई है. इस जल विवाद की सुनवाई चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस अमिताभ राय और जस्टिस खानविलकर की बेंच ने की. आने वाले कुछ महीनों के भीतर कर्नाटक में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. चुनाव को देखते हुए यह फैसला काफी अहम साबित होगा.

कावेरी जल विवाद पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए इसमें तमिलनाडु की हिस्सेदारी को घटा दिया है. तमिलनाडु के हिस्से को घटाने के बाद अब कर्नाटक को 14. 75 टीएमसी फिट ज्यादा दिया गया है. कावेरी विवाद को लेकर केंद्र सरकार ने कोर्ट से कहा है कि स्पष्टीकरण याचिकाएं ट्रिब्यून के सामने लंबित है. इसलिए यह उन पर अंतिम निर्णय का इंतजार कर रहा है.

और देखे:-

फिर लुटे बैंक, माल्या कांड से भी बड़ा बैंक घोटाला 

घोटाले पर गिर गई केंद्र सरकार, देश में पैदा हुआ दूसरा माल्या, देखें वीडियो

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here