सलमान खान से कराया था प्रचार लेकिन अभी तक नहीं चुका पाया करोड़ों रुपए का लोन, सीबीआई ने लिया हिरासत में

PNB महा घोटाला सामने आने के बाद देश के बाकी बाकी बैंक अपने लोन डिफॉल्टर्स को लेकर तेजी से कार्रवाई कर रहे हैं. इस कड़ी में सोमवार को सीबीआई की तरफ से पेन कंपनी रोटोमैक के मालिक को हिरासत में लिया गया. रोटोमैक कंपनी के मालिक विक्रम कोठारी को कानपुर से हिरासत में लिया गया है और आरोप यह है कि उसे बैंक ऑफ बड़ौदा का 800 करोड रुपए का लोन चुकाना है.

जानकारी इस प्रकार भी है कि बैंक ऑफ बड़ौदा के अलावा देश के 5 सरकारी बैंकों से भी रोटोमैक कंपनी के मालिक विक्रम कोठारी ने 5000 करोड़ रुपए लोन ले रखा है. देखने वाली बात यह है कि विक्रम कोठारी का संबंध हमेशा उद्योग घर आने से ही रहा है. उनके पिता मनसुखभाई कोठारी पान मसाले का धंधा करते थे. जो कि अगस्त 1973 में उन्होंने पान पराग नाम से एक पान मसाला बाजार में उतारा था. पान पराग दुनियाभर में मशहूर हुआ था. जिसके बाद मनसुखभाई के दो बेटे हुए थे एक का नाम दीपक और एक का नाम विक्रम कोठारी है. पिता के बाद उनका धंधा इन्हीं दोनों के बीच बटा हुआ है. जहां एक तरफ दीपक कोठारी का हिस्सा पान पराग है, तो विक्रम कोठारी का हिस्सा रोटोमैक पैन की कंपनी है. जब से रोटोमैक कंपनी विक्रम कोठारी के पास आई थी. तब से ही वह इसे मार्केट में एक अच्छा दर्जा दिलाने की कोशिश कर रहे हैं. इसलिए उन्होंने सलमान खान को ब्रांड अंबेसडर बनाया था और उनसे खूब प्रचार प्रसार करवाया था. लेकिन धंधा फिर भी नहीं चलने के कारण वह बैंकों का पैसा वापस नहीं दे पाए.

मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार बात की जाए तो विक्रम कोठारी पर इंडियन ओवरसीज बैंक का 14 सौ करोड़ रुपया, बैंक ऑफ़ इंडिया का 1395 करोड़ रुपया BOB का 800 करोड़ रुपया, यूनियन बैंक का 485 करोड़ और इलाहाबाद बैंक का 352 करोड़ रुपया है, जिसे विक्रम कोठारी को चुकाना है. फिलहाल सीबीआई ने विक्रम कोठारी को हिरासत में ले लिया है और आगे की कार्रवाई की जा रही हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here