राज्यसभा में रविशंकर प्रसाद ने किया तीन तलाक बिल पेश ,जेटली का ऐतराज

बुधवार को आज राज्यसभा में तीन तलाक बिल पेश किया गया. केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इस बिल को राज्यसभा में रखा. मोदी सरकार को राज्यसभा में बिल पास कराने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ेगी क्योंकि उसके पास राज्यसभा में पर्याप्त बहुमत नहीं है.

पिछले हफ्ते लोकसभा में तीन तलाक बिल सर्वसम्मति से पास हो गया था. लेकिन राज्यसभा में कांग्रेस इस बिल को स्टैंडिंग कमेटी के पास भेजने पर पड़ी हुई है. कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने बिल स्टैंडिंग कमेटी के पास भेजने की मांग की और कहा कि बजट सेशन के पहले हफ्ते तक रिपोर्ट आ जाए ताकि इस पर आगे बहस हो सके. पहले जहां यह बिल मंगलवार को ही पेश हो जाना था मगर विपक्षी पार्टियों की आम सहमति ना बनने के बाद सरकार ने बुधवार बिल पेश करने का फैसला किया था. तीन तलाक बिल पर कांग्रेस ने अभी अपना रुक साफ नहीं किया है. तो वही यूनियन मिनिस्टर मुख्तार अब्बास नकवी का कहना हैं कि कांग्रेस ट्रिपल तलाक पर अभी भी कंफ्यूज है. कांग्रेस के अलावा हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी भी इस बिल के खिलाफ है. उसके अलावा सपा सांसद नरेश अग्रवाल ने भी कहा था कि राज्यसभा के नियमों के अनुसार बिलों को सिलेक्ट कमेटी में भेजने का प्रावधान है.

आपको बता दें यह बिल लोकसभा में 28 दिसंबर 2017 को पेश किया गया था. क्या यह बिल 7 घंटे के अंदर लोकसभा में पास हो गया था. इस बिल में कई संशोधन पेश किए गए लेकिन सब के साथ सिरे से खारिज हो गए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here