एनकाउंटर के डर से ऑटो में तोगड़िया को आया चक्कर, आंख खुली तो अस्पताल में पाया- तोगड़िया

सोमवार को विश्व हिंदू परिषद के इतिहास में जो हुआ है वह कभी पहले नहीं देखने को मिला. विश्व हिंदू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया सोमवार सुबह से लापता हो गए थे. उनकी लापता होने की खबर जैसे ही मीडिया में फैली तो बवाल मच गया था. लापता होने के बाद बाद शाम को तोगड़िया को अहमदाबाद के एक अस्पताल में पाया गया. जानकारी है कि प्रवीण तोगड़िया के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया था और पुलिस उनकी लगातार तलाश कर रही थी. सोमवार सुबह ही तोगड़िया को इस मामले की जानकारी मिली थी. प्रवीण तोगड़िया को जानकारी मिली थी कि राजस्थान पुलिस उन्हें गिरफ्तार करने गुजरात पहुंच रही है और राजस्थान पुलिस के साथ गुजरात पुलिस भी शामिल है सुबह के वक्त उन्हें एक युवक ने इस सब की जानकारी दी थी कि उनका एनकाउंटर होने वाला है. यह सब कुछ उन्होंने मंगलवार सुबह प्रेस कांफ्रेंस के दौरान बताया है प्रवीण तोगड़िया ने बताया कि बड़ी तादाद में पुलिस बल उनके एनकाउंटर करने के लिए आ रही है. इस मामले की जानकारी जैसे ही उन्हें प्राप्त हुई तो वह अपना कार्यालय छोड़ कर चले गए और उन्होंने अपने साथ किसी भी सुरक्षा कर्मी को साथ नहीं लिया.

मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस के दौरान तोगड़िया ने बताया कि सुबह के वक्त जब मैं पूजा कर रहा था तो एक व्यक्ति उनके पास आया और कार्यालय छोड़ देने की बात कही. इस सब के पीछे उस व्यक्ति ने तोगड़िया को बताया कि वह अपना कार्यालय इसलिए छोड़ दें क्योंकि उनका एनकाउंटर होने वाला है. जिसके बाद वह है कुछ पैसे लेकर ऑटो रिक्शा में बैठकर निकल गए. तोगड़िया ने बताया कि ऑटो रिक्शा में बैठने के बाद उन्होंने राजस्थान सरकार से संपर्क करने की बहुत कोशिश की थी लेकिन सरकार ने कहा कि एनकाउंटर जैसी कोई बात नहीं है यह सब कुछ झूठ है. राजस्थान के गृहमंत्री से प्रवीण तोगड़िया की बातचीत हुई थी. जिसके बाद उन्होंने अपने फोन को बंद कर दिया था.

फोन को बंद होने इसलिए किया था ताकि उनके लोकेशन को ट्रेस ना किया जा सके प्रवीण तोगड़िया ने मंगलवार को बताया कि जिस वक्त वह ऑटो में बैठे थे तो उन्हें पसीना आने लग गया था और कुछ देर बाद उन्हें चक्कर आ गया और ऑटोवाला उन्हें धन्वंतरि अस्पताल में ले गया. लेकिन इसके बाद उन्हें चक्कर आ गया और रात को 11:30 बजे उन्हें होश आया होश में आने के बाद उन्होंने अपने आप को अस्पताल में पाया. जहां पर डॉक्टर मौजूद थे आपको बता दें कि 10 साल पहले राजस्थान में 3 हिंदू युवकों की हत्या के बाद मामला बढ़ गया था. हत्या के बाद प्रवीण तोगड़िया वहां पर पहुंचे थे. वह अपना कार्यक्रम करना चाहते थे लेकिन प्रशासन ने इसके लिए तोगड़िया को अनुमति नहीं दी थी लेकिन बावजूद इसके तोगड़िया ने अपना कार्यक्रम किया उसके बाद प्रवीण तोगड़िया के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी हो गया था. प्रवीण तोगड़िया के खिलाफ गुजरात की मेट्रोपोलिटन कोर्ट ने दिया था वह कोर्ट में पेश हुए थे और उन्हें जमानत भी दे दी गई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here