प्रत्युम्न हत्याकांड: JJB का फैसला, बालिग जैसा चलेगा आरोपी छात्र पर केस

बुधवार को प्रद्युम्न हत्याकांड मामले में जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड की तरफ से बड़ा फैसला सुनाया गया है. कोर्ट की तरफ से कहा गया है कि इस मामल में 16 साल के आरोपी छात्र पर बालिग की तरह से कार्रवाई की जाएगी और बालिग की तरह से ही आरोपी छात्र पर केस चलाया जाएगा. ऐसे में माना जा रहा है कि अगर 16 साल के आरोपी छात्र पर आरोप साबित हो जाता है तो उसे फांसी की सजा हो सकती है. इस मामले में सीबीआई की तरफ से जेजेबी में याचिका दायर की गई थी जिसमें कहा गया था कि आरोपी छात्र पर बालिग की तरह की केस चलाया जाए.

प्रत्युम्न हत्याकांड: JJB का फैसला, बालिग जैसा चलेगा आरोपी छात्र पर केस    pradyuman murder case juvenile justice board decision convict will be considered as adult    pradyuman murder case, juvenile justice board, decision convict, considered as adult, crime,, haryana police, crime story, gurugrame murder case      बुधवार को प्रद्युम्न हत्याकांड मामले में जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड की तरफ से बड़ा फैसला सुनाया गया है. कोर्ट की तरफ से कहा गया है कि इस मामल में 16 साल के आरोपी छात्र पर बालिग की तरह से कार्रवाई की जाएगी और बालिग की तरह से ही आरोपी छात्र पर केस चलाया जाएगा. ऐसे में माना जा रहा है कि अगर 16 साल के आरोपी छात्र पर आरोप साबित हो जाता है तो उसे फांसी की सजा हो सकती है. इस मामले में सीबीआई की तरफ से जेजेबी में याचिका दायर की गई थी जिसमें कहा गया था कि आरोपी छात्र पर बालिग की तरह की केस चलाया जाए.   कोर्ट में जस्टिस ने सीबीआई और आरोपी छात्र के वकील की सभी दलीलें सुनी हैं और कोर्ट ने अपना फैसला 8  को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था. आपको बता दें कि गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल के बाथरूम में 7 साल के प्रद्युम्न की हत्या की गई थी. मामले के बाद हरियाणा पुलिस ने सभी तथ्यों की जांच की थी और स्कूल बस कंडक्टर को आरोपी पाया था. पुलिस ने इस मामले में जब अशोक कुमार को आरोपी पाया तो उसे गिरफ्तार कर लिया लेकिन प्रद्युम्न के परिजन इसमें सीबीआई जांच की मांग कर रहे थे. सीबीआई ने जब अपनी जांच शुरू की तो पुलिस की कार्रवाई की भी जांच की गई थी. सभी तथ्यों को जांचने के बाद स्कूल प्रशासन में भी काफी कमियां पाई गई थी.   स्कूल के अंदर काफी सारी कमियां पाए जाने के बाद कई सारे सवाल खड़े हो गए थे लेकिन अंत में सीबीआई ने स्कूल में ही पढ़ने वाले 11 वीं के छात्र को आरोपी पाया था. सीबीआई ने पाया था किछात्र ने ही प्रद्युम्न की हत्या की है. सीबीआई ने जब छात्र से पूछताछ की तो यह सच निकल कर सामने आया कि मात्र पीटीएम और परीक्षा की डेट टालने के लिए आरोपी छात्र ने प्रद्युम्न की हत्या कर दी. वही सीबीआई जांच के बाद हरियाणा पुलिस की भूमिका पर भी काफी सारे सवाल खड़े किए गए थे.
pradyuman murder case

कोर्ट में जस्टिस ने सीबीआई और आरोपी छात्र के वकील की सभी दलीलें सुनी हैं और कोर्ट ने अपना फैसला 8 को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था. आपको बता दें कि गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल के बाथरूम में 7 साल के प्रद्युम्न की हत्या की गई थी. मामले के बाद हरियाणा पुलिस ने सभी तथ्यों की जांच की थी और स्कूल बस कंडक्टर को आरोपी पाया था. पुलिस ने इस मामले में जब अशोक कुमार को आरोपी पाया तो उसे गिरफ्तार कर लिया लेकिन प्रद्युम्न के परिजन इसमें सीबीआई जांच की मांग कर रहे थे. सीबीआई ने जब अपनी जांच शुरू की तो पुलिस की कार्रवाई की भी जांच की गई थी. सभी तथ्यों को जांचने के बाद स्कूल प्रशासन में भी काफी कमियां पाई गई थी.

स्कूल के अंदर काफी सारी कमियां पाए जाने के बाद कई सारे सवाल खड़े हो गए थे लेकिन अंत में सीबीआई ने स्कूल में ही पढ़ने वाले 11 वीं के छात्र को आरोपी पाया था. सीबीआई ने पाया था किछात्र ने ही प्रद्युम्न की हत्या की है. सीबीआई ने जब छात्र से पूछताछ की तो यह सच निकल कर सामने आया कि मात्र पीटीएम और परीक्षा की डेट टालने के लिए आरोपी छात्र ने प्रद्युम्न की हत्या कर दी. वही सीबीआई जांच के बाद हरियाणा पुलिस की भूमिका पर भी काफी सारे सवाल खड़े किए गए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here