मन का बात: 4 दशकों से आतंकवाद से पीड़ित है भारत, सभी हो एकजुट

रविवार को पीएम मोदी एक बार फिर से मन की बात कार्यक्रम से देश की जनता से जुड़े हैं। इस बार पीएम मोदी 38वीं बार इस कार्यक्रम से लोगों से जुड़े और कई सारे मुद्दों पर बात की। पीएम मोदी ने सबसे पहले 26/11 हमले में मारे गए लोगों को याद किया और देशवासियों को इसके बारे में बताया। जिसके बाद पीएम ने देशवासियों को संविधान दिवस की शुभकामनाएं दी।

mann ki bat

संविधान बनाने वाले लोगों को किया याद

पीएम ने कहा कि आज के दिन हम सभी को संविधान बनाने वाले लोगों को याद करना चाहिए जिनके कारण समाज के गरीब तबके के लोगों को सरंक्षण प्रदान किया गया। पीएम मोदी ने कहा कि संविधान बनाने वाले लोगों पर सभी भारतीय को गर्व करना चाहिए। पीएम ने बताया कि संविधान बनाने में सबसे ज्यादा बाबा साहब अंबेडकर का योगदान है। मन की बात कार्यक्रम में पीएम ने नरेंद्र मोदी मोबाइल ऐल पर लोगों से अपील की कि वह इस साल के अपने अनुभवों को उसपर साझा करें।

26/11 को नहीं भूल सकता भारत
मन की बात कार्यक्रम में पीएम मोदी ने 26/11 हमले को याद किया। पीएम मोदी ने कहा कि इस वक्त आतंक के खिलाफ एकजुट होने की सबसे ज्यादा जरूरत है। पीएम के अनुसार इस हमले में जान गंवाने वाले लोगों को भारत कभी भी नहीं भूल सकता है, भारत 4 दशकों से आतंकवाद से पीड़ित है। पीएम ने कहा कि पहले जब भी आतंकवाद के खिलाफ चर्चा की जाती है तो लोगों द्वारा इसे गंभीरता से नहीं लिया जाता था। लपेकिन आज के दौर में दुनिया के कई देश आतंकवाद की चपेट में हैं तो सभी लोगों द्वारा आतंकवाद पर एकजुटता दिखाई दे रही है।

ईद की बधाई

मन की बात कार्यक्रम में पीएम मोदी ने सभी देशवासियों को ईद ए मिलाद की बधाई दी है। पीएम मोदी ने कहा कि त्योहार को सभी लोग एकजुट होकर मनाए तथा लोगों में भाईचारे का माहौल बने।

नदियों के किनारे हुए सभ्यता का विकास

आने वाली 4 दिसंबर को नेवी डे है। इस दौरान अपने 38वें मन की बात कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा कि नदियों के किनारे ही सभ्यताओं का विकास हुआ है। पीएम ने कहा कि जब भी नेवी डे को याद किया जाएगा तब शिवाजी महाराज और मराठा नेवी को हमेशा याद किया जाएगा। पीएम ने कहा कि उस दौर में भी भारत की समुद्री सीमा की रक्षा नौसेना द्वारा किया जाता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here