नोटबंदी की ‘भारी गलती’ को स्वीकार करें पीएम मोदी- मनमोहन सिंह

अगामी 8 नवंबर को नोटंबदी का पूरा एक साल होने जा रहा है। नोटबंदी मोदी सरकार द्वारा उठाया गया काफी बड़ा कदम है। विपक्षी पार्टियां लगातार इस मुद्दे को लेकर बीजेपी को घेरने में लगी हुई है। ऐसे में एक बार फिर नोटबंदी के मुद्दे को आधार बनाकर देश के पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने पीएम मोदी को घेरा है। पूर्व पीएम ने नोटबंदी को विनाशकारी आर्थिक नीति करार दिया और कहा कि यह एक सामाजिक विपत्ति साबित होगी।

manmohan singh

पू्र्व पीएम मनमोहन सिंह ने पीएम मोदी को सलाह दी की अपनी इस भारी गलती वह स्वीकार कर लें। मनमोहन सिंह का कहना है कि देश की अर्थव्यवस्था का पुनर्निर्माण के लिए आम सहमति के काम करना जरूरी है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि पूर्व पीएम का मानना है कि नोटबंदी एक विनाशकारी आर्थिक नीति साबित होगी। पूर्व पीएम का मानना है कि नोटबंदी के कारण प्रतिष्ठात्मक, आर्थिक, संस्थागत और सामाजिक क्षति देश को होगी। पूर्व पीएम ने कहा है कि देश की जीडीपी गिरना तो खतरे का मात्र एक संकेत है।

पूर्व पीएम ने कहा कि नोटबंदी करने का सबसे पहले असर नौकरियों पर देखने को मिला। मनमोहन सिंह ने कहा कि देश की तीन चौथाई गैर कृषि रोजगार छोटे मझोले उद्यमों में हैं और इन क्षेत्रों में नोटंबीद के कारण काफी बड़ा नुकसान हुआ है। नोटबंदी के कारण लोगों की नौकरियां चली गई हैं तथा अब लोगों को नौकरियां भी नहीं मिल पा रही है। मनमोहन सिंह ने कहा कि इस वक्त सरकार का सबसे पहला काम आर्थिक प्राथमिकताओं को सुचारू करना है। जानकारी है कि मंगलवार को पूर्व पीएम मनमोहन सिंह गुजरात का दौरा करने वाले हैं जिसमें वह जीएसटी और नोटबंदी के मुद्दे पर व्यापारियों से वार्ता करने वाले हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here