कार्ति चिदंबरम मामला: पी चिदंबरम ने कहा- मैंने ही INX मीडिया मामले में जांच के आदेश दिए थे

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने गुरुवार को कोर्ट में कहा कि आईएनएक्स मीडिया मामले में उन्होंने जांच के आदेश दिए थे. यह सब उन्होंने अपने बेटे कार्ति चिदंबरम के मामले में कोर्ट के कोर्ट में बहस के दौरान कहा है. उन्होंने कहा कि इस मामले में उनके बेटे को आरोपी बनाया गया है लेकिन जांच के आदेश उन्होंने दिए थे. पी चिदंबरम ने सीबीआई की तरफ से लगाए गए सभी आरोपों को खारिज किया है.

p chidambaram says in court i ordered inquiry in inx media case p chidambaram, says in court, ordered inquiry, inx media case, congress, bjp
p chidambaram

कार्ति चिदंबरम 1 दिन की सीबीआई की हिरासत में हैं. बुधवार को उन्हें फिर से कोर्ट में पेश किया गया. आईएनएक्स मीडिया मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सीबीआई ने बुधवार को कार्तिक चिदंबरम को चेन्नई एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया था. सूत्रों के हवाले से मिली खबर के अनुसार मजिस्ट्रेट के सामने इंद्राणी मुखर्जी के बयान पर कार्ति की गिरफ्तारी हुई है. सूत्रों के मुताबिक इंद्राणी मुखर्जी ने अपने बयान में कहा है कि पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के निर्देश पर विदेशी निवेश को मंजूरी के लिए कार्तिक को 10 लाख अमेरिका डॉलर करीब 7 करोड़ रुपए दिए गए थे.

बुधवार को जैसे ही बेटे की गिरफ्तारी हुई तो इसके बाद कार्ति के पिता पी चिदंबरम अपने विदेश दौरा स्थगित करके स्वेदश लौट गए. पुलिस ने चेन्नई एयरपोर्ट से कार्ति चिदंबर को बुधवार को गिरफ्तार किया. दिल्ली लाकर उन्हें पूछताछ के बाद पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया. कोर्ट में पेश करने के बाद महानगर दंडाधिकारी सुमित आनंद की तरफ से कार्ति चिदंबरम को एक दिन की हिरासत में सीबीआई को सौंप दिया गया. इस मामले में दंडाधिकारी से सीबीआई के वकील द्वारा कहा गया कि कार्ति चिदंबरम से पूछताछ करना बेहद जरूरी है, ऐसा इसलिए है क्योंकि वह जांच में सीबीआई का सहयोग नहीं कर रहे हैं.

लेकिन इस सब के बाद कांग्रेस नेता और वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी की तरफ से सभी आरोपों को खारिज किया गया. उन्होंने कहा कि कार्ति पूरी तरह से जांच में सहयोग कर रहे हैं और सीबीआई और ईडी के सामने वह 30-40 घंटे कुलमिलाकर पेश हुए हैं. कार्ति चिदंबर के मामले में पटियाला हाउस कोर्ट में सीबीआई और कार्ति के वकील अभिषेक मनु सिंघवी के बीच काफी जोरदार बहस हुई है. कार्ति की ओर से दायर याचिका में कहा गया था कि सीबीआई की अर्जी को खारिज किया जाए जिसमें कहा गया है कि कार्ति को रिमांड पर भेजा जाए.

आपको बता दें कि मामला 2007 का है. जब वित्त मंत्री पी चिदंबरम के कार्यकाल में आईएनएक्स मीडिया को 305 करोड़ रुपए का विदेशी फंड हासिल हुई था. जब से ही यह मामला सामने आया है. आरोप लगाया गया है कि आईएनएक्स मीडिया की तरफ से एफआईपीबी (फॉरेन इनवेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड) क्लीयरेंस हासिल करने में अनियमितता बरती गई है. लेकिन कार्ति चिदंबरम पर आरोप लगाया गया है कि आईएनएक्स मीडिया को फंड दिलाने के लिए कार्ति चिदंबरम को 10 लाख रुपए दिए गए थे. जिसके बाद ईडी की तरफ से मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया गया.
वीडियो के जरिए देखे सियासत पर भारी थप्पड़

और अधिक खबरें

CBI रिमांड पर कार्ति चिदंबरम, पूछताछ जारी, कोर्ट में होगी पेशी

कट्टरपंथियों की पीएम मोदी का संदेश, ‘अपने ही धर्म का नुकसान कर रहे हैं कट्टरपंथी’

होली के रंगों में डूबा मसूरी

किच्छा में मनाया गया होली का पर्व

भाजपा नेता की पुलिस प्रशासन को धमकी, खड़ें हुए कई सवाल

होली से पहले तंत्र-मंत्र के कारोबार ने पकड़ा जोर

अपने पीछे इतनी दौलत छोड़ गई श्रीदेवी

मध्यप्रदेश उपचुनाव परिणाम 2018: मुंगावली सीट पर कांग्रेस की जीत, कोलारस में भी बढ़त बनाए हुए कांग्रेस

आंगनवाड़ी केंद्र मकरंदपुर प्रथम में छोटे बच्चों ने मनाई होली

पुलिस ने की अमन कमेटी के साथ बैठक, होली और जुमे की नमाज़ को लेकर हुई चर्चा

मेरठ में दिल दहला देने वाला मामला, युवती पर डाला तेजाब

श्रीदेवी को दी गई मुखग्नि

दिल्ली के दिल में दिनदहाड़े हुई फायरिंग, 1 शख्स घायल

परंपरागत साधु-संतों से अलग थे जयेंद्र सरस्वती, कई बार विवादों में भी रहे

अलविदा श्रीदेवी : मौत के पीछे छुपा राज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here