जानें अब्दुल को क्यों कहा जाता है ‘ओसामा बिन लादेन’

गणतंत्र दिवस से 4 दिन पहले दिल्ली पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है. दिल्ली पुलिस ने इंडियन मुजाहिद्दीन संगठन से जुड़े मोस्ट वांटेड आतंकी अब्दुल सुभान कुरैशी को गिरफ्तार कर लिया है. दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में आया आतंकी साल 2008 में हुए गुजरात सीरियल ब्लास्ट का मास्टरमाइंड है. भारत में कुरैशी को ओसामा बिन लादेन के नाम से जाना जा रहा है.

कुरैशी को ओसामा बिन लादेन इसलिए भी कहा जाता है क्योंकि उसकी शकल कुछ-कुछ ओसामा से मिलती है. डीसीपी पीएस कुशवाहा ने बताया है कि कुरैशी दिल्ली में किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने वाला था.सूत्रों से मिली खबरों के मुताबिक राजधानी दिल्ली में एक बहुत बड़ी आतंकी घटना को अंजाम देने का साजिश रच रहा था. इस दौरान दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल अब्दुल को पकड़ने पहुंची थी उस वक्त अब्दुल ने पुलिस वालों से बचने के लिए फायरिंग भी की थी, लेकिन दिल्ली पुलिस की कड़ी महनत काम आ गयी और अंत में पुलिस ने आतंकी अब्दुल को गिरफ्तार कर ही लिया है. बताया जा रही है की सुरक्षा एजेंसियों को एक दशक से इस संदिग्ध आतंकवादी की तलाश थी.

गिरफ्तरा हुए आतंकी अब्दुल सुभान कुरैशी उर्फ तौकीर को आतंक की दुनिया में भारत का बिन लादेन भी कहा जाता था. गिरफ्तार हुआ आतंकी पेशे से इंजिनियर है और इस आतंकी को बम बनाने में महारत हासिल है. दिल्ली, बेंगलुरु और अहमदाबाद में हुए आतंकी हमलों में इस खुंखार आतंकी का हाथ बताया जा रहा है. सूत्रों के मुताबिक आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिदीन के सभी ऑनलाइन काम को अब्दुल ही निपटाता था.

आपको बता दें 12वीं कक्षा के बाद कुरैशी ने कंप्यूटर साइंस में डिप्लोमा हासिल किया था. जिसके बाद उसे विप्रो कंपनी में नौकरी भी मिली थी. कुरैशी ने अपना निकाह 1999 में कर लिया था और उसके तीन बच्चे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here