GST स्लैब कम करने के बाद विपक्षियों ने एक-एक कर साधा निशाना

जीएसटी के मुद्दे पर इन दिनों राजनीतिक घमासान मचा हुआ है। ऐसे में शुक्रवार को उड़ीसा में जीएसटी काउंसिल की बैठक हुई थी। जिसमें 178 चीजों के दामों को घटाया गया है। ऐसे में केंद्र समेत अन्य राज्यों के वित्त मंत्री इस बैठक में शामिल हुए थे। इस बैठक में यह 178 चीजों के दामों पर फैसला लिया गया है उनका टैक्स 28 प्रतिशत से घटाकर 18 कर दिया है। हालांकि विपक्षी पार्टियां इस मुद्दे को लेकर लगातार केंद्र पर निशाना साध रही है।

rahul gandhi

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मुद्दे पर एक बार फिस से जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स करार दिया है। राहुल गांधी ने जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स बताया तथा केंद्र पर हमला बोला। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि ‘भारत को गब्बर सिंह टैक्स नहीं, सरल GST चाहिए। कांग्रेस और देश की जनता ने लड़कर कई वस्तुओं पर 28% टैक्स ख़त्म करवाया है।18% CAP के साथ एक रेट के लिए हमारा संघर्ष जारी रहेगा। अगर भाजपा ये काम नहीं करेगी, तो कांग्रेस करके दिखाएगी।’

वही दूसरी तरफ देश से बीजेपी को मिटाने की बात करने वाले बिहार में सत्तारूढ़ आरजेडी प्रमुख लालू यादव ने भी बीजेपी पर एक बार फिर से निशाना साधा। लालू के अनुसार इस वक्त नोटबंदी और जीएसटी पूरी तरह से फेल हो गई है। लालू ने कहा कि ‘lalu- नोटबंदी और GST तब कामयाब मानी जाती जब इसका डंका जनता बजाती भाजपा नहीं। इन्हें ख़ुद की पीठ थपथपानी नहीं पड़ती जनता ख़ुद इनकी पीठ थपथपाती।’

 

केंद्र की आलोचना करने पर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी पीछे नहीं रहे। राजधानी के उपमुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार पहले से ही 8% टैक्स स्लैब को खत्म करने की मांग करती रही है। उपमुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा कि ‘manish sisodia- दिल्ली सरकार शुरू से 28% टैक्स स्लैब को खत्म करने की मांग करती रही है लेकिन शुरू में 200 वस्तुओं पर 28% लगाने की बीजेपी की जिद के कारण बार बार फैसले वापस लेने पड़ रहे हैं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here