सेना ने किया आतंकियों की नाक में दम, 48 घंटों में 7 ढेर

कश्मीर में पत्थरबाजी, आतंकी वारदातें और आतंकियों से मुठभेड़ तो पहले भी होती रही हैं. लेकिन बीते तीन सालों में ये सारी घटनाएं बहुत तेजी से बढ़ीं. इसे सरकार की खुद की उहापोह कहें या फिर कोई बड़ी साजिश लेकिन कश्मीर में बीते तीन सालों का हिसाब किताब बेहद चौंकाने वाला है. पत्थरबाज़ी की 4799 घटनाएं हुईं. पथराव में सुरक्षाबलों के करीब 12 हज़ार जवान घायल हुए. तीन साल में 591 आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया. लेकिन इस दौरान सुरक्षाबलों के 252 जवान शहीद भी हो गए.

सीजफायर खत्म होते ही बांदीपुरा की जंगलों में आतंकियों के छुपे होने की खबर मिलते ही सेना ने मोर्चा संभाल लिया. सुरक्षाबलों को पता चला था कि गुरेज एरिया से 6 आतंकी भारतीय में घुसे हैं, जिसके बाद ऑपरेशन में 18 जून को 2 आतंकियों को मार गिया गया. जबकि अगले दिन 19 जून को भी 2 आतंकी ढेर कर दिए गए. मारे गए सभी आतंकी लश्कर से जुड़े हुए थे.

terrorist attack on jammu kashmir sunjwan 5 soldier dead Army campaign continues terrorist attack, jammu kashmir sunjwan, 5 soldier dead, Army campaign continues
terrorist attack

उसके बाद 19 जून को त्राल में सेना को बड़ी कामयाबी मिली. यहां के हयना गांव में आतंकियों को घेर का ऑपरेशन चलाया गया, और 3 आतंकियों को मार गिराया गया, ये तीनों आतंकी संगठन जैश से जुड़े थे.

शहीद औरंगजेब के घर पहुंची रक्षा मंत्री, परिजनों से की बात

 

Google बना डॉक्टर, जानें कैसे ?

 

दिल्ली बवाल: राहुल गांधी ने तोड़ी चुप्पी, लेकिन दिया डिप्लोमैटिक जवाब

 

यूपी: शहीदों के साथ अब स्कूलों में बच्चे पढ़ेंगे बाबा गोरखनाथ का पाठ

 

‘हत्या से पहले सेना के जवान औरंगजेब से हुई थी पूछताछ’

इस सैक्सी लड़की के लिए अर्जुन ने छोड़ा अपनी पत्नी को

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here