अमित शाह की रैली पर ग्रहण, एनजीटी ने मांगा खट्टर सरकार से जवाब

बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह हरियाणा के जींद में 15 फरवरी को बाइक रैली करने वाले हैं. लेकिन उनकी बाइक रैली पर अब रुकावटे आने शुरू हो गई हैं. पहले ही अमित शाह की रैली को वहां के जाटों ने रोकने का ऐलान कर दिया है. लेकिन अब एनजीटी में भी अमित शाह की रैली को रोकने के लिए एक अर्जी डाली गई हैं. जिसमें कहा गया है कि प्रदूषण को बहुत ज्यादा खतरा हैं. इस रैली में एक लाख बाइको का इस्तेमाल होना हैं इसलिए इस पर रोक लगा देनी चाहिए.

अमित शाह की रैली पर एनजीटी में अर्जी विक्टर ढीसा नामक वकील ने समीर सोढ़ी के द्वारा डाली है. अर्जी देने के बाद कार्रवाई करते हुए हरियाणा सरकार से एनजीटी ने 13 फरवरी तक जवाब मांगा है और हलफनामा दाखिल करने को कहा है. इस मामले में भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति द्वारा पहले ही ऐलान किया जा चुका है कि वह रैली नहीं होने देंगे. अखिल भारतीय जाट आरक्षण समिति की तरफ से जींद में 750 ट्रैक्टरों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है. अन्य जिलों में भी समिति रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को चला रही है.

जानकारी के लिए बता दें कि हरियाणा में जाट आरक्षण आंदोलन में मारे गए लोगों की याद में 18 फरवरी को बलिदान दिवस मनाया जा रहा है. जिसके चलते बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह 15 फरवरी को जींद के 7 मुख्य रास्तों पर जाट महिलाओं और बच्चों के साथ ट्रैक्टर ट्रॉली लेकर पहुंचेंगे. समिति के जिला अध्यक्ष जयवीर की टोली ने कहा है कि इस रैली के दौरान अमित शाह को काले झंडे दिखाकर जाट अपना विरोध दर्ज कराएंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here