एमआरआई मशीन में फंसकर हुई शख्स की मौत, अस्पताल प्रशासन पर उठे सवाल

मुंबई के एक अस्पताल में दिल को दहला देने वाला हादसा हुआ है. मुंबई के नायर अस्पताल में 32 साल के राजेश मारू एमआरआई मशीन ने अपनी पकड़ में इस तरहा से लिया की उसके हाथ में पकड़ा हुआ ऑक्सीजन सिलिंडर खुल गया और सारी गैस उसके पेट में भर गई. बताया जा रहा है की गैस राजेश के पेट में जैसे ही गई उसका शरीर गुब्बारे की तरहा फूलने लगा, उसकी आंखें बाहर आ गई और उसी वक्त उसकी दर्दनाक मौत हो गई. सूत्रों के मुताबिक पता चला है की उस वार्ड बॉय को सस्पेंड कर दिया गया है जिसने राजेश के हाथ में ऑक्सीजन का सिलिंडर देकर रुम में भेजा था. इसके साथ ही डॉक्टर, नर्स और वार्ड बॉय पर लापरवाही बरतने की वजह से मौत का मामला दर्ज कर लिया गया है. इस हादसे की खबर मिलने के बाद ही सीएम फडणवीस ने पीड़ित के परिवार वालों को 5 लाख रुपए की राशि देने का ऐलान कर दिया है.

राजेश के जीजा हरीश सोलंकी ने बताया की उनकी मां की तबियत ठीक नहीं थी इसलिए उन्हें मुंबई के नायर अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अस्पताल के डॉक्टरों ने मां का एमआरआई करवाने के लिए कह, अपनी मां के साथ राजेश भी वहीं था. जिसके बाद आरोप यह है की एमआरआई रुम के बाहर ही अस्पताल के वार्ड बॉय ने सोने की चैन और घड़ी तो उतरवा ली लेकिन मरीज को दिया जाने वाला ऑक्सीजन का सिलिंडर अंदर ले जाने के लिए कह दिया.

राजेश के जीजा के बताए जाने के मुताबिक, उन्होंने इसका विरोध किया लेकिन साथ में आए वार्ड बॉय कहा की अभी मशीन बंद है. वार्ड बॉय के इतना कहने के बाद जैसे ही राजेश कमरे के अंदर गया तो मशीन ने सिलिंडर को अपनी ओर खींच लिया. राजेश के हाथ में सिलिंडर होने की वजह से राजेश भी मशीन के अंदर ही चला गया. जिसके बाद सिलिंडर का ढक्कन खुल गया और पूरी गैस राजेश के पेट के अंदर चली गई, जिसके तुरंत बाद राजेश की मौत हो चुकी थी.

इस पूरे मामले की जांच में अग्रिपाड़ा पुलिस जुट गई है. इस मामले में पुलिस मृतक के रिश्तेदारों समेत अस्पताल के वार्ड बॉय और डॉक्टरों से भी पूछताछ कर रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here