आखिरी ‘मन की बात’, ये हैं बड़ी बातें

रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर से देश की जनता के साथ मन की बात कार्यक्रम में जुड़े हैं. जिसमें पीएम मोदी ने देश की जनता को नए साल की शुभकामनाएं दी हैं. पीएम ने कहा कि नए साल में सभी बातें भी नई होनी चाहिए. पीएम ने बताया कि भारत देश में सेवा परमो धर्म की परंपरा है और देश में निष्काम की बातें होती हैं. पीएम मोदी ने बताया कि क्रिसमस का पर्व हमें सेवा करने का संदेश देता है.

mann ki bat pm modi addressed last time for in this year   mann ki bat, pm modi, addressed last time, this year, new year
pm modi

पीएम ने कहा कि 1 जनवरी का दिन बेहद ही विशेष है क्योंकि जो भी इस दिन जन्मा है और उसकी आयु 18 साल हो गई है तो वह वोटर बन जाएगा और भारत का लोकतंत्र 21वीं सदी के वोटरों के इंतजार करते हैं. उन्होंने कहा कि यूथ ही यह निर्धारित करेगा कि उसका भारत कैसा होना चाहिए. पीएम ने लोगों से अपील की कि वह सभी देश को आगे ले जाने में अपना योगदान दें. उन्होंने कहा कि हमें इस बात की चिंता होनी चाहिए कि भारत देश ऐसा बने जैसा महापुरुषों ने सोच रखा था. पीएम ने इस बात की जानकारी दी कि समय यह मांग कर रहा है कि इस वक्त सभी लोग एक साथ दिव्य भारत के लिए जनआंदोलन की शुरुआत करें.

पीएम ने कहा कि महान शिक्षाएं हमें गुरु गोविंद सिंह ने दी हैं. लोगों को उन्होंने जाति और धर्म को तोड़ने की शिक्षा दी है. गुरु गोविंद सिंह ने लोगों को जीवन के हर पल में त्याग और कर्म करने का संदेश दिया है.

पीएम ने कहा कि मन की बात कार्यक्रम में वह देश की जनता से जुड़ते हैं और पिछली बार इसमें सकारात्मकता की बात कही गई थी. पीएम ने कहा कि जिस व्यक्ति के अंदर उत्साह भरा हुआ है उसके लिए कोई भी काम असंभव नहीं होता है. इस बात का सबूत लोगों ने खुद शेयर कर दिया है. उसके लिए लोगों द्वारा कई सारे ट्वीट भी किए गए हैं. पीएम ने कहा कि कुछ लोगों द्वारा व्यक्तिगत घटनाओं के बारे में भी कहा गया है. लेकिन ऐसे भी कई सारे लोग हैं जिनके काम में सकारात्मकता आ रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here