संसद में सुषमा का बयान, सभी विपक्षियों ने जयाता समर्थन, ‘जाधव की मां पत्नी के साथ गलत व्यवहार किया गया’

पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव का मुद्दा इन दिनों काफी ज्यादा गरमाया हुआ है. मुद्दा यह भी है कि जाधव की पत्नी और मां की इस्लामाबाद में मुलाकात के वक्त पाकिस्तान की तरफ से काफी गलत व्यवहार किया गया. जिसके बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की तरफ से राज्यसभा में अपने संबोधन के दौरान कहा गया है कि राजनयिक कोशिशों के कारण कुलभूषण जाधव के परिवार की मुलाकात संभव हो पाई है. उन्होंने कहा कि जाधव मामला सरकार की तरफ से अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में पेश किया गया है.

kulbhushan jadhav forign minister shushma swaraj parliament statement india pakistan kulbhushan jadhav, foreign minister, shushma swaraj, parliament statement, india, pakistan
sushma swaraj

सुषमा स्वराज ने कहा कि जो हमेशा साड़ी पहनती है लेकिन मुलाकात के वक्त जाधव की मां के कपड़े तक बदलवा दिए गए. भारत की यह शर्त थी कि मीडिया को जाधव की मां और पत्नी के करीब ना आने दिया जाए लेकिन फिर भी पाकिस्तान ने ऐसा करा है. विदेश मंत्री ने कहा कि अतरराष्ट्रीय कोर्ट में जाने के बाद इस मुद्दे पर कोर्ट ने जाधव की फांसी पर रोक लगा दी. विदेश मंत्री ने कहा कि मुश्किल के वक्त में सरकार उसके परिवार के साथ है परिवार की इच्छा जाधव से मिलने की थी जोकि पूरी कर दी गई है. लेकिन पाकिस्तान का व्यवहार काफी ज्यादा खेद का विषय बना हुआ है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की तरफ से इस मुलाकात को एक प्रोपेगेंडा की तरह से पेश किया गया है.

वही मुलाकात से वापस भारत आने के बाद उसकी मां और पत्नी ने बताया कि कुलभूषण जाधव काफी दबाव में है. उन्होंने कहा कि जाधव ने वही कहा है जोकि उसे बोलने के लिए कहा गया था. इस्लामाबाद में हुई यह मीटिंग सिर्फ मानवाधिकार के उल्लंघन के अलावा कुछ नहीं है. इस मामले में विपक्ष की तरफ से भी सरकार का समर्थन किया गया है. विपक्ष की सबसे बड़ी कांग्रेस पार्टी की तरफ से नेता गुलाम नबी आजाद ने सुषमा स्वराज के बयान पर समर्थन जताया और कहा कि जाधव पर जो भी आरोप लगाए गए हैं वह सरासर गलत है. पाकिस्तान में कोई लोकतंत्र है ही नहीं. वही कांग्रेस के अलावा अन्य विपक्षी पार्टियों ने भी सरकार का समर्थन किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here