कारों की बिक्री में आई गिरावट

नोटबंदी और जीएसटी के बाद गिरी मोदी सरकार की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है। अब नया ताजा विवाद आया है “सियाम” यानी सोसाइटी ऑफ इंडिया ऑटोमोबाइल मैनुफैक्चरर्स के आए आंकड़ों के बाद। सियाम की इस रिपोर्ट में यह साफ हो गया है कि भारतीय अर्थव्यवस्था अब शायद ट्रैक से उतर चुकी है। सियाम के आए आंकड़ों के अनुसार अक्टूबर महीने में कारों की बिक्री 5.30 फिसदी तक गिर गई है।

car sale

जहां पिछले साल अक्टूबर में 1 लाख 95 हजार 036 कारों की बिक्री दर्ज की गई थी। तो वहीं 2017 में यह बिक्री घाट कर 1 लाख 86 हजार 666 रह गई है। हालांकि इस राहत की बात यह है कि यूटिलिटी व्हीकल की बिक्री में बढ़ोतरी देखने को मिलेगी है। यूटिलिटी व्हीकल की बिक्री 79 हजार 323 रहीं, जो कि पिछले साल की बिक्री का 12.44 फ़ीसदी ज्यादा है। इसके साथ ही अन्य वाहनों कि श्रेणी भी तेजी देखने को मिली। जिस में सबसे प्रमुखता से शामिल है वैन। वैन की में भी करीब 4 से 4.50 फीसद तक की तेजी देखी गई और इसकी बिक्री की संख्या 15848 तक जा पहुंची है। देश के अंदर आई कार की गिरावटों में जीएसटी और नोटबंदी जैसे मोदी सरकार के फैसलों को माना जा रहा है। कार विक्रेताओं की मानें तो इस वक्त मार्केट से पैसा बिल्कुल खत्म हो चुका है और कंज्यूमर की पर्चेजिंग पावर भी कम हो गई है। यही वजह है कि कार की बिक्री इस साल पिछले साल के मुकाबले कम हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here