सेकुलरिज्म पर हेगड़े का बयान ‘इनकी कोई पहचान नहीं, अपने खून का भी इन्हें पता नहीं’

मंगलवार को सेक्युलेरिज्म तोमर तोमर केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने विवादित बयान दिया हैं. जिसके बाद वह सुर्खियों में छा गए. कर्नाटक में अनंत कुमार हेगड़े ने कहां की सेकुलरिज्म और प्रगतिशील होने का दावा करते हैं, वह लोग अपने मां बाप के खून तक को नहीं पहचानते. अनंत कुमार हेगड़े का मानना हैं कि लोगों को अपनी पहचान धर्म और जाति के आधार पर बतानी चाहिए ना की सेकुलर बताना चाहिए.

केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने पिछले साल भी एक विवादित बयान दिया था, जिसके चलते व्यक्तियों में आ गए थे. उन्होंने इस्लाम को लेकर अपमानजनक कमेंट किया था जिसके बाद उनके खिलाफ केस भी दर्ज किया गया था. जिसके बाद हेगड़े ने सेकुलर लोगों पर बयान दिया. केंद्रीय मंत्री का कहना है कि संविधान में संशोधन कर सेकुलर शब्द हटा सकते हैं. यह सब उन्होंने कोपल जिले में जेल गुड़गांव में ब्राह्मण युवा परिषद और महिलाओं के प्रोग्राम में कहा है. कौशल विकास राज्य मंत्री ने कहा कि सर्कुलर लोग भी बात नहीं जानते हैं कि, उनका कौन असल में है?. क्या और संविधान यह कहने का अधिकार देता है कि यह सेकुलर हैं और कहेंगे भी लेकिन संविधान में कई बार संशोधन हो चुका है, जिसके बाद इस शब्द को हटाया जा सकता हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here