भोपाल गैस त्रासदी की 33वीं बरसी, ना पीड़ितों को इंसाफ मिला ना दोषियों को सजा

भोपाल: भोपाल गैस त्रासदी की आज 33वीं बरसी है। सन् 1984 में दो दिसंबर को जहरीली गैस ने लगभग 20 हजारा लोगों की जान ली थी.यह हादसा भरात का सबसे बड़ा हादसा था। भोपाल त्रासदी को भोपाल गैस कांड के नाम से भी जाना जाता है। इस मौके पर लोगों ने इस हादसे में मारे गए लोगों के लिए कैंडल मार्च निकाला है।

bhopal

भोपाल गैस हादसे में 20 हजार निर्दोष लोगों की जान गई थी। उन्हीं निर्दोष लोगों की आत्मा शांति के लिए सम्भावना ट्रस्ट ने कैंडिल मार्च निकाला। मारे गए लोगों के पीड़ित परिवार वालों ने जो दर्द झेला है उसे बयान नहीं किया जा सकता है। 33 साल गुजर जाने के बाद भी पीड़ितो को ना इंसाफ मिला है ना ही सरकार द्वारा किए गए वादों को पूरा किया गया।

आपको बता दें की आज भोपाल गैस त्रासदी के 33 साल पूरे हो जाने के बाद भी दोषियों को ना ही सजा मिली है और ना ही पीड़ितों को इंसाफ मिला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here