नोटबंदी सभी समस्या का हल नहीं- अरुण जेटली

अर्थ व्यवस्था के मुद्दे पर लगातार बीजेपी और कांग्रेस में टकराव की स्थिति बनी हुई है। ऐसे में मंगलवार को वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा की जीडीपी का पूरा 12% हिस्सा कैश हो और उसका भी 86 फिसदी हिस्सा बड़ी करेंसी में था। वित्त मंत्री के अनुसार जो टैक्स देता है उस पर काफी ज्यादा बोझ होता है, जो साधन गरीबों के कल्याण के लिए खर्च किया जाना है उसे वो व्यक्ति अपने पास रख लेता है जो पूरी तरह से संपन्न होता है। उन्होंने कहा कि रुपए पर आधारित अर्थव्यवस्था मे यह भ्रष्टाचार का एक कारण बनकर उभर कर सामने आया है। जेटली ने कहा कि नोटबंदी से सभी समस्या का हल नहीं निकाला जा सकता है।

arun jaitley

अरुण जेटली ने कहा कि केंद्र में बीजेपी की सरकार आने के बाद भ्रष्टाचार के खिलाफ कई कदम उठाए गए हैं उन्होंने कहा कि एनडीए सरकार आने के बाद उस पर रोक लगाई जा सकी है। अरुण जेटली ने कहा कि बीजेपी सरकार आने के बाद विदेशों से बदलते नियम आदि पर सरकार ने कई सारे कदम उठाए हैं और इसका परिणाम पिछले 3 सालों में देखा गया है। जेटली ने कहा कि पिछले साल रिसोर्ट अवेलेबिलिटी काफी ज्यादा बड़ी है तथा टैक्स देने वालों की संख्या तेजी से बढ़ रही है।

उन्होंने कहा कि पहले ऐसा नहीं होता था। पहले टैक्स देने वालों की संख्या में काफी कमी थी लेकिन अब कई लोग टैक्स देते हैं। अरुण जेटली ने कहा कि मोदी सरकार आने के बाद डिजिटल ट्रांजैक्शन में भी अच्छा सुधार हुआ है इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आतंकियों की फंडिंग पर भी रोक लगाई जा सकती है। अपनी सरकार के कामों को गिनाते हुए जेटली ने कहा कि अब आतंकी फंडिंग पर काफी मात्रा में रोक लग गई है तथा आतंकियों को गाड़ी में दहशत फैलाने के बारे में कई बार सोचना पड़ता है सरकार की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री ने कहा कि लोकतंत्र की आलोचना करने वाले भी होंगे लेकिन लोगों ने अपना सारा पैसा बैंक में जमा करवा दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here