दिल्ली में आयोजित सेमिनार में जनरल बिपिन रावत गरजे

दिल्ली में आयोजित एक सेमिनार में भारतीय सेना प्रमुख बिपिन रावत का कहना है कि भारतीय सेना धीरे धीरे हथियारों के आयात की दिशा में बढ़ रही हैं. जिसकों पुख्ता करने की बात का वक्त आ गया है. बिपिन रावत का कहना है कि सेना किसी भी लड़ाई के लिए तैयार है और वह भाारत में बने हथियारों के दम पर ही लड़ाई लड़ने को तैयार है. जब से केंद्र में बीजेपी की सरकार आई है तब से ही भारते में सेना के लिए हथियार बनाने के लिए काम किया जा रहा है. भारत में हथियार बनाने के लिए केंद्र सरकार की तरफ से कई सारे प्रयास किए गए हैं.

केंद्र सरकार में बीजेपी आने के बाद कई सारे समझौते ऐसे किए गए हैं जिससे कंपनियां भारत में ही हथियार बनाए और भारत में ही अपने उप्पादों का निर्माण करें. जिसकों लेकर केंद्र सरकार की नीति मेक इन इंडिया के तहत इस योजना को जोड़ा गया है जिसमें अन्य कंपनियां भारत में ही अपने उत्पादों का निर्माण करेंगी. इसी कड़ी में कुछ वक्त पहले ही देश की ऑर्डिनेंस फैक्ट्रियों के ऑर्डर को भी मंजूरी दी गई है. वही सोमवार को सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा कि जम्मू कश्मीर के युवाओं पर बोलते हुए कहा कि उन्हें मुख्यधारा में लाने की लगातार कोशिश की जा रही है और यह चिंता का विषय नहीं है. बिपिन रावत ने कहा कि आतंकियों की तरफ से पहले भी अपनी फोटो को सोशल मीडिाय पर डालकर वह अपना प्रोपेगेंडा कर चके हैं. उन्होंने कहा कि बुरहान वानी की तरफ से पहले अरने गुर्गों के साथ मिलकर वीडियो को शेयर किया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here