आप के 20 विधायकों की सदस्यता हुई रद्द, राष्ट्रपति को भेजी गई रिपोर्ट

चुनाव आयोग ने शुक्रवार को लाभ के पद मामले में आम आदमी पार्टी (आप) के 20 विधायकों को अयोग्य घोषित कर दिया है. आयोग अपनी रिपोर्ट को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को भेजेगा. चुनाव आयोग द्वारा (आप) पार्टि के 20 विधायकों को आयोग्य घोषित करने के बाद अब सबकी नजरें राष्ट्रपति पर है, जोकि इस मामले में अंतिम फैसला सुनाएंगे. अगर राष्ट्रपति आयोग की अनुशंसा पर इन सभी विधायकों को आयोग्य घोषित करने का आदेश देते है , तो दिल्ली में इन सभी सीटों पर दोबारा से चुनाव होंगे. अगर (आप) के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द होती है तो फिर भी 67 सीटों के जबरदस्त बहुमत के साथ सत्ता में आई केजरीवाल सरकार सत्ता में बनी रहेगी.

चुनाव आयोग द्वारा (आप) के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द किए जाने के बाद आम आदमी पार्टी ने इस मामले में चुनाव आयोग और मुख्य चुनाव आयुक्त पर पलटवार किया है. इस मामले में आप के विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा है की मुख्य चुनाव आयुक्त अचल कुमार जोति का 23 जनवरी को जन्मदिन है, वह 65 साल के हो रहे हैं और जोति रिटायर होने से पहले पीएम मोदी का कर्ज उतारना चाहते हैं. सौरभ भारद्वाज ने आरोप लगाते हुए कहा की चुनाव आयोग में अप के किसी भी विधायक की गवाही नहीं हुई है.


 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here