Business Idea: आज के युग में लोग खुद का बिजनेस शुरू करना ज्यादा पसंद कर रहे हैं और इसके जरिए मोटी कमाई कर रहे हैं। ऐसे में अगर आप भी अपना बिजनेस शुरू करने की सोच रहे हैं, तो यहां हम आपको एक ऐसे बिजनेस के बारे में बताएंगे जिसे आप शुरू कर के आसानी से लाखों रुपये कमा सकते हैं। दरअसल हम बात कर रहे हैं मोती की खेती (Peral Farming) यानी मोती का कारोबार के बारे में। इसमें बेहद कम निवेश के साथ अच्छी कमाई की जा सकती है। इस बिजनेस को आप महज 30,000 रुपये की लागत से शुरू कर सकते हैं। इसमें सरकार की तरफ से 50 फीसदी सब्सिडी भी मिलती है।

आज के समय में मोती की खेती पर लोगों का फोकस तेजी से बढ़ा है। इसकी खेती करके कई लोग लखपति बन चुके हैं। इसमें करीब 10 गुना तक मुनाफा कमाया जा सकता है। यानी 30000 रुपये लगाने पर 3 लाख रुपये तक आसानी से कमा सकते हैं।

जानिए कैसे शुरू करें मोती की मोती

मोती की खेती के लिए एक तालाब की जरूरत होती है। जहां सीप (मोती तैयार होता है)। इसके अलावा इसमें ट्रेनिंग की भी जरूरत है। कुल मिलाकर आपको तीन चीजों की जरूरत है। तालाब चाहें तो आप खुद के खर्च पर खुदवा सकते हैं या सरकार 50 फीसदी सब्सिडी मुहैया कराती है, उसका लाभ ले सकते हैं। सीप भारत के कई राज्यों में मिलते हैं। लेकिन दक्षिण भारत और बिहार के दरभंगा में सीप की क्वालिटी अच्छी मिलती है। इसके लिए अगर आप ट्रेनिंग लेना चाहते तो मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में ट्रेनिंग ले सकते हैं। मध्य प्रदेश के होसंगाबाद और मुंबई में मोती की खेती करने की ट्रेनिंग दी जाती है।

कैसे करें मोती की खेती

सबसे पहले सीपों को एक जाल में बांधकर 10-15 दिनों के लिए तालाब में डाल दिया जाता है, ताकि वो अपने मुताबिक अपना एनवायरमेंट क्रिएट कर सकें। इसके बाद उन्हें बाहर निकालकर उनकी सर्जरी की जाती है। सर्जरी यानी सीप के अंदर एक पार्टिकल या सांचा डाला जाता है। इसी सांचे पर कोटिंग के बाद सीप लेयर बनाते हैं, जो आगे चलकर मोती बनता है।

25 से 35 हजार रुपये की लागत से शुरू कर सकते हैं ये बिजनेस

एक सीप को तैयार होने में 25000 से 35,000 रुपये की लागत आती है। तैयार होने के बाद एक सीप से दो मोती निकलते हैं। और एक मोती कम से कम 120 रुपये में बिकता है। अगर क्वालिटी अच्छी हुई तो 200 रुपये से भी अधिक दाम पर बिक जाता है। अगर आपने एक छोटा तालाब खुदवाया और उसमें 1000 सीप भी डाले तो आपको 2000 मोती मिल जाएंगे। हालांकि, सारे सीप जिंदा नहीं बच पाते तो मान लेते हैं कि करीब 600-700 सीप बचेंगे। यानी आपको 1200-1400 मोती मिलेंगे। आपके ये मोती करीब 2-3 लाख रुपये में बिकेंगे। जबकि 1000 मोती पर आपका खर्च करीब 2500-35000 रुपये आया है। हालांकि, इसमें तालाब खुदवाने का खर्च शामिल नहीं है। क्योंकि वह सिर्फ एक बार होता है और उसमें भी सरकार से 50 फीसदी की सब्सिडी मिल जाती है।

ताजा खबरें

एक 23 वर्षीय लेखक/पत्रकार, जो व्यावसायिक (Business) पत्रकारिता के लिए गहरी रुचि रखते...

Leave a comment

Your email address will not be published.