RBI पूर्व गवर्नर ने कहा नोटबंदी से भरने में लगेंगे दो साल

वस्तु और सेवा कर (जीएसटी), नोटबंदी पर लगातार तंज कसते जा रहे हैं. बैंकों से भारी मात्रा में एनपीए से अर्थव्यवस्था को लगे झटके के मद्देनजर निकट अवधि में देश की विकास दर के बारे में अनुमान लगाने से इनकार करते हुए आरबीआई के पूर्व गवर्नर वाईवी रेड्डी ने कहा है की अर्थव्यवस्था को मजबूत होने तथा विकास दर का आंकड़ा हासिल करने में लगभग 2 साल लगेंगे.

रेड्डी ने कहा के वर्तमान में आर्थिक विकास के बारे में अनुमान लगाना बहुत ही कठिन है. उन्होंने कहा अर्थव्यवस्था पता नहीं कब 7.5 फ़ीसदी या 8 वीं सदी के विकास दर आंकड़े पर वापस लौटेगी. इस विषय में भविष्यवाणी करना बहुत कठिन है. ऐसा होने में अगले 2 साल का वर्क लगने वाला है. रेड्डी ने कहा की मेरे अनुमान से अर्थव्यवस्था को मजबूत होने में लगभग 2 साल लगने वाले हैं. आने वाले 2 सालों में हम कम से कम 7.5 से 8 फीट की विकास दर के आंकड़े पर वापस लौट पाएंगे. अर्थव्यवस्था की जो दिक्कत है चल रही है वह तो खत्म हो रही है, कुछ सकारात्मक पहलू का आना अभी बाकी है और वह बहुत जल्द ही आएंगे.

उन्होंने कहा कि कच्चे तेल की कीमतों में व्यापक कमी होने का अर्थव्यवस्था पर लगभग 3 वर्षों तक सकारात्मक असर बना रहा है. हालांकि नकारात्मक असर कैसे जीएसटी का कार्यान्वयन, नोटबंदी और बैंकों में भारी एनपीए ने विकास दर पर.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here