मैगी विवाद: नेस्ले ने कहा- मैगी 100 प्रतिशत शुद्ध और सुरक्षित प्रोडक्ट

2 मिनट में तैयार होने वाली मैगी एक बार फिर विवादों के कटघरे में आ खड़ी हुई है. यूपी के शाहजहांपुर में मैगी का सैंपल फेल हो जाने के बाद जिला प्रशासन ने मैगी के तीन वितरकों पर 45 लाख रुपए और अन्य दो विक्रेताओं पर 11-11 लाख रुपए का जुर्माना लगाया है. इस सब विवाद के बीच नेस्ले कंपनी ने मैगी को 100 प्रतिशत शुद्ध और सुरक्षित बताया है.

nastley maggai sample field in shajhanpur up     nastley maggai, maggai sample, field to test, shajhanpur, up    nastley maggi, maggi sample, field to test, shajhanpur, up
maggi

नेस्ले इंडिया ने स्पष्टीकरण देते हुए कहा है की मैगी 100 प्रतिशत शुद्ध और सुरक्षित खाद्यय प्रोडक्ट है. इस मामले में अधिकारियों का कहना है कि पारित आदेश नहीं मिले हैं तथा सूचना दी गई है की यह नमूने साल 2015 के हैं यह समस्या मैगी में विवादित पदार्थ पाए जाने से संबंधित है. जल्दी आदेश आ जाने के बाद इस मामले में एक अपील दायर की जाएगी।

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में बीते वर्ष नवंबर में मैगी के नमूने लिए गए थे. जिन्हें जांच के लिए भेजा गया था. जांच में पाया गया कि मैगी में इंसान की खपत से ज्यादा मात्रा में राख पाई गई थी. जिसके बाद जिला प्रशासन ने तीन विक्रेताओं पर जुर्माना लगाया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here