काली कमाई से खरीदे फ्लैट ने दिलाई नवाज को 10 साल की सजा, 72 करोड़ रु जुर्माना

इस्लामाबाद.पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री nawaz sharif (68), उनकी बेटी मरियम नवाज (44) और दामाद कैप्टन सफदर (54) को अदालत ने भ्रष्टाचार के मामले में दोषी ठहराया है। पाकिस्तान की भ्रष्टाचार निरोधक अदालत ने नवाज को 10 साल की सजा सुनाई और 80 लाख पाउंड यानी करीब 72 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया। मरियम को 7 साल कैद में गुजारने होंगे और 18 करोड़ रुपए का जुर्माना देना होगा। उनके पति सफदर को 1 साल की सजा सुनाई गई है। यह मामला लंदन के अवेनफील्ड स्थित 4 फ्लैट से जुड़ा है। नवाज ने ये फ्लैट 1993 में खरीदे थे। नेशनल अकाउंटेबिलिटी ब्यूरो (एनएबी) का आरोप था कि ये फ्लैट भ्रष्टाचार के पैसों से खरीदे गए। कोर्ट ने शुक्रवार को नवाज को दोषी माना और कहा कि ब्रिटिश सरकार इन फ्लैट को जब्त करे।

एक साल पहले पिता की कुर्सी गई, अब बेटी का चुनावी करियर गया:जुलाई 2017 में पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने पनामा पेपर लीक मामले में नवाज शरीफ को भ्रष्टाचार का दोषी माना था। उनके चुनाव लड़ने पर आजीवन रोक लगा दी थी। इसके बाद नवाज को प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था। अब बेटी मरियम के चुनाव लड़ने पर चुनाव आयोग ने पाबंदी लगा दी है। जियो न्यूज के मुताबिक, आयोग ने कहा कि मरियम का नाम बैलट पेपर से भी हटा दिया जाएगा। उनके पति सफदर भी चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। 44 साल की मरियम नवाज ने 2012 में राजनीति में कदम रखा था। 2013 के आम चुनाव में पिता नवाज की सीट पर चुनाव कैंपेन की जिम्मेदारी निभाई थी। उनकी कुल घोषित संपत्ति 90 करोड़ रुपए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here