ज्यादा सेनिटाइजर का उपयोग करना भी बहुत खतरनाक

0
177

सेनिटाइजर के ज्यादा इस्तेमाल से त्वचा के कैंसर, लिवर और फेफड़ों के रोगों का खतरा, बरतें सावधानी साफ-सफाई रखना अच्‍छी बात है लेकिन कहीं आपकी ज्‍यादा सफाई रखने की आदत आप पर भारी न पड़ जाए। जी हां हम बात कर रहें हैं उन लोगों की जो कि बार-बार सेनिटाइजर का इस्‍तेमाल करते हैं। सेनिटाइजर का ज्‍यादा इस्‍तेमाल आपकी व आपके त्वचा को नुकसान पहुंचा सकता हैक्‍या आप भी सेनिटाइजर का इस्‍तेमाल करते हैं? बिल्‍कुल करते होंगे क्‍योंकि आजकल लगभग सभी लोग साफ-सफाई को लेकर इतने सजग हैं कि वह घर से बाहर या ऑफिस के इस्‍तेमाल के लिए अपने बैग मे सेनिटाइजर रखना बहुत जरूरी मानते हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि सेनिटाइजर के अधिक इस्‍तेमाल से आपकी त्‍वचा ही नहीं बल्कि आपके स्‍वास्‍थ्‍य पर भी बुरा असर पड़ सकता है। जी हां यह एक ऐसा लिक्विड है, जो आपके लिए हानिकार‍क हो सकता है। त्‍वचा में जलन ही नहीं, बल्कि मांसपेशियों को नुकसान भी पहुंचा सकता है। आइए जानते हैं, कैसे? नोरोवायरस का खतरा  अमेरिकी केंद्रों में एपिडेमिक इंटेलिजेंस सर्विस के द्धारा किए गए एक अध्‍ययन के अनुसार, जो लोग नियमित रूप से हाथ धोने के लिए सेनिटाइजर का इस्‍तेमाल करते हैं, वह लगभग 6 गुना कोरोवायरस के शिकार थे। यह तीव्र आंत्रशोथ का कारण भी बनता है।  नोरोवायरस एक प्रकार का कीड़ा है, यह काफी संक्रामक होता है जिसके कारण उल्‍टी और दस्‍त की समस्‍या हो सकती है। सेनिटाइजर से त्‍वचा और मांसपेशियों को नुकसान  जी हां यह बात सच है कि अधिक सेनिटाइजर के इस्‍तेमाल से त्‍वचा में जलन के साथ आपकी मांसपेशियां भी प्रभावित हो सकती हैं। इसके पीछे का कारण यह है कि इसमें ट्राइक्‍लोसान केमिकल होता है, जो कि आपकी त्‍वचा पर पड़ते ही सूख जाता है। इसलिए सेनिटाइजर के ज्‍यादा इस्‍तेमाल करने पर यह केमिकल त्‍वचा से खून के संपर्क में आता है और खून के संपर्क में आने के बाद यह मांसपेशियों को नुकसान पहुंचाता है। बेंजाल्‍कोनियम क्‍लोराइड होने के कारण यह त्‍वचा में जलन और खुजली की समस्‍या को पैदा कर सकता है।  लिवर और फेफड़ों के लिए घातक  सेनिटाइजर में आने वाली एक भीनी सी महक के लिए इसमें फैथलेट्स केमिकल का उपयोग होता है, जो कि सीधा-सीधा आपके लिए हानिकारक है। इसलिए जिन सेनिटाइजर में इस केमिकल की अधिक मात्रा होती है, वह लिवर, किडनी और फेफड़ो को नुकसान पहुंचा सकता है। इसके साथ यह आपके प्रजनन तंत्र पर भी गहरा असर डाल सकता है। कैंसर का खतरा  खुद की साफ-सफाई के प्रति सजग रहना अच्‍छा है, लेकिन कहीं ऐसा तो नहीं कि आप खुद को खुद ही बीमारियों के मुंह में धकेल रहे हों। जी हां कुछ चीज को छूने के बाद या फिर कुछ खाने से पहले आप सेनिटाइजर का इस्‍तेमाल करते हैं। कीटांणुओं से दूर रखने वाले सेनिटाइजर के इस्तेमाल के तुरंत बाद ‘बिस्फेनॉल ऐ’ से युक्त किसी चीज जैसे प्‍लास्टिक की बोतल या बच्‍चे की दूध की बोतल आदि को छूने से शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ने की संभावना होती है। यह बिस्फेनॉल ऐ ऐसा केमिकल है, जो कैंसर का भी कारक बन सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × three =